अपना 33वां जन्मदिन मना रहे इशांत शर्मा, भारतीय टीम को कई यादगार जीत दिलाई


युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क  

टीम इंडिया के तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा आज अपना 33वां जन्मदिन मना रहे हैं। भारत की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में बतौर तेज गेंदबाज 100 से ज्यादा टेस्ट मैच खेलने वाले ईशांत ने अपने लंबे करियर में टीम इंडिया को कई यादगार जीत दिलाई है। चाहे वो साल 2013 में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी का फाइनल रहा हो या फिर 2014 में खेला गया लॉर्ड्स टेस्ट। ईशांत  टेस्ट क्रिकेट में भारत की ओर से सबसे ज्यादा विकेट चटकाने के मामले में भी संयुक्त रूप से पांचवें नंबर पर मौजूद हैं।

ईशांत ने अपने इंटरनेशनल करियर की शुरुआत टेस्ट क्रिकेट से की थी। बांग्लादेश के खिलाफ साल 2007 में ईशांत पहली बार भारत की जर्सी पहनकर मैदान पर उतरे थे। उसके बाद से ईशांत को क्रिकेट का यह सबसे लंबा फॉर्मेट काफी रास आया और उन्होंने विदेशी पिचों पर रिकी पोंटिंग जैसे बल्लेबाजों की नाक में भी खूब दम किया। 104 टेस्ट मैचों में ईशांत अबतक 311 विकेट निकाल चुके हैं। इस दौरान वह 11 बार पांच से उसे ज्यादा विकेट चटका चुके हैं। भारत की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में ईशांत अभी जहीर खान के बराबर में खड़े हैं और एक विकेट लेते ही वह उनसे आगे निकल जाएंगे। टेस्ट में कपिल देव के बाद ईशांत सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले भारतीय तेज गेंदबाज हैं।

टेस्ट की तरह ही वनडे फॉर्मेट में ही ईशांत ने टीम इंडिया के फैन्स को अपनी गेंदबाजी के दम पर झूमने का मौका दिया। अपने करियर में ईशांत अबतक 80 टेस्ट मैच खेल चुके हैं और इस दौरान उन्होंने 115 विकेट चटकाए हैं। खास बात यह है कि उनका इकॉनमी भी 6 के अंदर का ही रहा है। 2013 चैंपियंस ट्रॉफी की जीत का जिक्र जब भी किया जाता है तो ईशांत का नाम जरूर लिया जाता है। ईशांत ने इंग्लैंड के खिलाफ फाइनल मुकाबले में इयोन मोर्गन और रवि बोपारा को लगातार गेंद में आउट करके मैच भारत की झोली में डाल दिया था। ईशांत को हालांकि टी-20 फॉर्मेट में टीम इंडिया की तरफ से खेलने का ज्यादा मौका नहीं मिला और उन्होंने सिर्फ 14 मैच खेले। ईशांत इस समय भारतीय टीम के साथ इंग्लैंड दौरे पर हैं और उन्होंने लॉर्ड्स में टीम इंडिया को ऐतिहासिक जीत दिलाने में एकबार फिर अहम भूमिका निभाई।