हम उन्हें यूं भुला ना पाएंगे

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

(गौरीशंकर पाण्डेय)

जखनियां/गाज़ीपुर।बात करीब 26साल पुरानी है। यही 1996-97बेर के आस पास की । दिवंगत पत्रकार गुलाब राय आज कार्यालय में कार्यरत थे।उस समय आदरणीय राज कमल राय जी आज अखबार के ब्यूरो चीफ हुआ करते थे।जिनसे काफी‌ स्नेह और समाचार लेखन की प्रेरणा और ज्ञान मिला।  अखबारों में लिखने पढ़ने का मेरा शौक था।मैंने राजकमल राय जी से बतौर निवेदन कर आदेश पाकर उन दिनों छप रहे विशेष कालम  गांव गिरांव तथा एक नजर इधर भी,में  समस्याओं को दुल्लहपुर से लिखने लगा था।तब आज अखबार की अपनी एक अलग पहचान हुआ करती थी।लोग आज अखबार को खोज कर पढ़ा करते थे। अखबार से स्वतंत्र पत्रकारिता के माध्यम से जुड़ने के कारण गाजीपुर शहर के मिश्र बाजार स्थित आज कार्यालय में प्रायः आना जाना लगा रहता था।और दुबली पतली काया के सदाबहार मृदुभाषी पत्रकार बड़े भाई की तरह  स्नेह देने वाले गुलाब राय जी से घंटों कार्यालय में बैठकर अपनी बातें साझा किया करते।बाद में जिनकी क्षमता कुशलता देखकर जिला पत्रकार संगठन ने एसोसिएशन के अध्यक्ष पद पर विराजमान किया और कि बार पद पर बने रहे।आज हम सबके बीच भले ही नहीं है।और उनके मरने के पीछे स्वास्थ्य महकमे की घोर लापरवाही जग जाहिर है। परन्तु उनकी यादें तो आज भी जिंदा हैं। पत्रकारों के‌ हित के लिए उनका जुझारूपन सदा याद किया जाएगा।ऐसे दिवंगत पत्रकार कलम के धनी गुलाब राय जी को विनम्र श्रद्धांजलि।