नवरात्रि पर सोनी सब के सितारों ने पुराने दिनों को याद किया और इस साल की अपनी योजनाओं के बारे में बताया

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

‘शुभ लाभ- आपके घर में’ के रोहित, यानि मिथिल जैन:

“नवरात्रि से जुड़ी मेरी बचपन की यादों में यह है कि मैं नौ दिनों तक गरबा और डांडिया खेलता था और देवी दुर्गा के सभी नौ रूपों की पूजा करता था। मेरा मानना है कि नवरात्रि का यह शुभ अवसर पूरी धूमधाम और आनंद के साथ आता है और इसे बड़े उत्सााह से मनाया जाता है। मैं गरबा खेलते हुए ही बड़ा हुआ हूँ और इस त्यौतहार का पूरा मजा लेता हूँ। गरबा खेलने की सबसे बेहतरीन याद तब की है, जब मैं गोरेगाँव में था और फाल्गु‍नी पाठक ने परफॉर्म किया था। इस साल मैं यह त्यौीहार घर पर अपने परिवार के साथ मनाऊंगा। ‘शुभ लाभ- आपके घर में’ के सेट पर नवरात्रि मनाकर मैं बहुत खुश हूँ और यह आगामी ट्रैक हमारे शो का मनोरंजन बढ़ा देगा।‘’

‘शुभ लाभ- आपके घर में’ के वैभव, यानि आशय मिश्रा:

“मेरे लिये नवरात्रि का मतलब हमेशा आरतियाँ गाने, गरबा सॉन्गि पर नाचने और अपने भाई-बहनों के साथ लंबे समय तक कॉम्पी टिशन करने से रहा है। नवनात्रि के दौरान मैं ज्याादा चार्ज्डग रहता हूँ, क्यों कि मुझे डांसिंग पसंद है और लोकगीतों पर नाचने के लिये तो मैं हमेशा तैयार रहता हूँ। मेरे कई दोस्ता हैं, जो मेरी तरह उत्सा हित हैं और वे मेरे डांडिया नाइट पार्टनर्स हैं। मैंने एक गरबा प्रतियोगिता जीती थी और वह बहुत रैंडम थी, क्योंरकि उसके लिये कोई रिहर्सल नहीं हुई थी और मेरा वीडियो एक लोकल चैनल ने कवर किया था। घर पर मेरे पेरेंट्स मुझे अपने टीवी स्क्री न पर देखकर चौंके और फिर खुश हो गये थे। इस साल मेरी कामना है कि देवी दुर्गा आप सभी को अपना भरपूर आशीर्वाद और प्यारर दें। इस शुभ त्यौमहार पर मैं सभी की समृद्धि और अच्छीभ हेल्थद की कामना करता हूँ। तो त्यौ।हार मनाइये, नाचिये, लेकिन सुरक्षित भी रहिये!’’

‘वागले की दुनिया- नई पीढ़ी नये किस्से’ के अथर्व, यानी शीहान कपाही:

“नवरात्रि से जुड़ी मेरी यादें हैं दिन में स्कूकल में त्यौ’हार मनाना और रात में अपने सोसायटी के दोस्तों  के साथ स्वायदिष्टा फूड लेकर मस्तीी करना। मैं फाल्गुकनी पाठक की डांडिया नाइट में जाता था और पूरे दिल से उसका आनंद लेता था। मेरी प्रार्थना है कि मेरे सभी फैंस और दर्शक खुशियाँ पाएं, हमारे शो ‘वागले की दुनिया’ को देखते रहें और हमें प्याार देते रहें। हम अपने शो में भी नवरात्रि मना रहे हैं और उसके सीक्वेंरसेस की शूटिंग धमाकेदार थी।”

‘मैडम सर’ की करिश्मान सिंह, यानि युक्ति कपूर:

“नवरात्रि का अवसर बहुत खास होता है, क्योंककि मैं अपने पेरेंट्स को इस त्यौथहार में सचमुच आस्थाह रखते, इसे उत्साेह से मनाते और नौ दिनों तक उपवास रखते देखकर बड़ी हुई हूँ। मैं बचपन से मेरे पेरेंट्स को माँ दुर्गा की पूजा करते देख रही हूँ और मैं भी नवरात्रि के पहले और अंतिम दिन उपवास रखा करती थी। मेरी सबसे अच्छीं याद है नौकन्याू पूजन के लिये लोगों के घर जाना, तोहफे पाना और पैसे इकट्ठे करना। मैं नौ दिनों तक रीतियों का पालन करती हूँ, हर दिन पूजा करती हूँ और गरबा और डांडिया खेलती हूँ। अपने कॉलेज के दिनों के दौरान जब मैं जयपुर में थी, तब अपने दोस्तोंत और परिवार के साथ डांडिया खेला करती थी। और इस साल चूंकि मेरी माँ मुंबई में मेरे पास हैं, तो हमने पूजा की खास तैयारी की है और हम दोनों ही नौ दिनों तक उपवास रखेंगे।”

‘मैडम सर’ की संतोष शर्मा, यानि भाविका शर्मा:

“मेरे लिये नवरात्रि हमेशा से हर साल गरबा और डांडिया खेलने का एक बेहतरीन मौका रही है। मैं इस त्यौहहार को लेकर हमेशा से उत्साेहित रही हूँ, क्योंहकि इसमें मुझे अपने दोस्तोंौ और परिवार के साथ गरबा खेलने का मौका मिलता था। मुझे त्यौ हारों के लिये तैयार होना पसंद है और चूंकि नवरात्रि का हर दिन अलग रंग वाला होता है, तो मुझे हर दिन नया रंग पहनना पसंद है, यह हमेशा से मेरे लिये बहुत खास रहा है। इस साल मैं किसी डांडिया नाइट में नहीं जाऊंगी, क्योंदकि हमें अब भी सचेत रहना है और मैं शूटिंग पर रहूंगी। मैं माँ दुर्गा की पूजा कर घर में ही यह त्यौेहार मनाऊंगी। मुझे गरबा और डांडिया बहुत पसंद है और इस त्यौ हार से जुड़ी मेरी खास याद है उन गरबा नाइट्स में जाना, जहाँ फेमस सिंगर परफॉर्म करते थे। मुझे डांसरों के अच्छेर ग्रुप और मेरे दोस्तों  के साथ डांस करना भी अच्छान लगता है।‘’

 ‘जि़द्दी दिल- माने ना’ के स्पेेशल एजेंट फैज़ी, यानि आदित्य देशमुख:

‘’मैं अपने सभी फैंस और दर्शकों को नवरात्रि की ढेर सारी शुभकामनाएं देता हूँ। नवरात्रि के नौ दिन सभी की जिन्दशगी में बहुत खास होते हैं और हम उसे पूरे उत्सारह से मनाना पसंद करते हैं। मैं बचपन में इन नौ दिनों में हर दिन अलग कपड़े पहना करता था और यह मेरी सबसे अच्छीस यादों में से एक है। मैं अपने दोस्तोंं से भी एक जैसे रंग के कपड़े पहनने के लिये कहता था, जब भी हम डांडिया नाइट्स के लिये जाते थे। मेरे घर पर हम पूरे नौ दिन माँ दुर्गा से प्रार्थना करते हैं और वह एहसास हमेशा से बहुत सकारात्म्क और उम्दा। रहा है। इस साल हम घर पर ही गरबा नाइट आयोजित कर त्यौ हार मनाएंगे।”

‘ज़िद्दी दिल- माने ना’ के करन शेरगिल, यानि शालीन मल्होलत्रा:

“मैं दिल्लीद में जन्माम और पला-बढ़ा हूँ और वहाँ कई संस्कृातियों का संगम है। तो नवरात्रि में मुझे हमेशा हलवा, पूरी और छोले जैसी चीजों का इंतजार रहता था, जो आठवें दिन बनती हैं। जब मैं बड़ा हुआ, तब गरबा खेलना चाहता था, और मैं यहाँ मुंबई की गरबा और डांडिया नाइट्स में आता था। बेहतरीन को-ऑर्डिनेशन और उत्सारह के साथ सभी को नाचते देखने का एहसास बहुत अच्छां लगता है। मैं फाल्गुहनी पाठक की डांडिया नाइट्स में भी गया हूँ और वे रॉक कॉन्स र्ट से कम नहीं होती थीं। गरबा और डांडिया में बहुत आनंद आता है और खुशी मिलती है। मैं अपने फैंस के लिये खुशियों से भरी नवरात्रि की कामना करता हूँ। मुझे ‘ज़िद्दी दिल’ में मेरे किरदार के लिये बहुत प्यािर मिला है और इसके लिये मैं उनका आभारी हूँ। मैं उनसे आग्रह करता हूँ कि वे इस कठिन समय में सुरक्षित रहें और मास्कि पहनना, हाथों को सैनिटाइज करना जारी रखें और सुरक्षित रहें!’’

‘ज़िद्दी दिल- माने ना’ की कोयल, यानि सिम्पहल कौल:

“बचपन के दौरान हम नवरात्रि में पूरी रात जागते थे, क्यों कि पास ही में एक मंदिर था, जहाँ उत्सहव अपने चरम पर होता था। मैंने उन यादों को हमेशा संजोकर रखा है और यह मेरे लिये बहुत खास है। मैं नौ दिन मंदिर जाती हूँ और माँ दुर्गा का आशीर्वाद लेती हूँ। मैं अपने सभी फैंस के लिये आनंद से भरे उत्स व की कामना करती हूँ और उनसे आग्रह करती हूँ कि वे पूरे प्याेर और उत्साीह से इसे मनाएं, लेकिन साथ ही अपने आस-पास के माहौल का भी ध्याइन रखें।”



Popular posts
मुझ पर दोस्तों का प्यार, यूँ ही उधार रहने दो |
Image
चिट्टियां कैसे लिखी जाती थी
Image
राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वाधान में व प्रभारी जिला जज/ अध्यक्ष विधिक सेवा प्राधिकरण के मार्गदर्शन में आजादी अमृत महोत्सव हुआ कार्यक्रम
Image
70 साल की उम्र में UP विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष सुखदेव राजभर ने ली अंतिम सांस, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, अखिलेश यादव ने जताया शोक
Image
असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा, रोज़गार और कल्याणकारी योज़नाओं का लाभ उठाने ई-श्रमिक पोर्टल पर पंजीकरण मील का पत्थर साबित होगा
Image