एकीकृत ब्राह्मण महासंघ का विशाल सम्मेलन संपन्न

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

चित्रकूट । चित्रकूट तुलसी जन्मभूमि राजापुर के तुलसी स्मारक के विशाल प्रांगण मे आज एकीकृत ब्राह्मण महासंघ का विशाल कार्य म विश्व कवि विश्व विख्यात संत शिरोमणि गोस्वामी तुलसीदास जी की प्रतिमा को माल्यार्पण कर और दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का आयोजन प्रारंभ किया गया । 

एकीकृत ब्राह्मण महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित विवेक पांडेय ने कहा कि आज बहुत खेद का विषय है की हमारा ब्राह्मण समाज पश्चिमी सभ्यता को अपना रहा है और अपनी संस्कृति को भूल बैठा है आज हमारे मंदिरों में विशेष लोगो के द्वारा आडंबरियों के द्वारा पूजन किया जा रहा है । हमारी सर्वश्रेष्ठ भूमिका ये है की हम समय निकाल कर अपने बच्चो को अपनी संस्कृति के बारे पूर्ण ज्ञान कराए और अपने वेद पुराण उपनिषद भागवत कथा और रामचरित मानस का निरंतर पठन पाठन करना चाहिए और करवाना चाहिए और इनके आदर्शों को अपने जीवन में ढाले । 

पंडित श्यामसुंदर मिस गुल्लू दादा प्रदेश संरक्षक ने कहा कि आज हमारा ब्राह्मण समाज कहां से कहां पहुंच गया आज हमारे बच्चे तरह - तरह के धूम्रपान व्यसन करते हैं और कर्मकांड भूलकर एक अलग दिशा में ही चल पड़े हैं यह हमारी आपकी भी नैतिक जिम्मेदारी है की अपने बच्चों को संस्कारित करें और उन्हें शिष्टाचार का पाठ नित्य प्रतिदिन पढ़ाएं युवा समाजसेवी पप्पू गौतम ने कहा कि हम आज शिखा बंधन जनेऊ और चंदन का त्याग कर रहे हैं अगर हम ब्राह्मण हैं तो हमें यह सब पुनः जीवन में उतारना होगा और पूर्व की भांति ब्राह्मण कर्म को अपनाना होगा । 

युवा समाजसेवी सुनील मिश्रा ने कहा कि हम ब्राह्मणों में आपसी कई तरह की बातें हो सकती है यह आती है जाती हैं रहती लेकिन जब अपने समाज की बात हो तो हम सब एक हैं और अपने समाज के लिए हर समय तन मन धन से तैयार हू और अपने ब्राह्मण समाज के लिए अपना बलिदान तक देने के लिए मैं तैयार हूं लेकिन मेरा समाज अब पूर्व की भांति अपने कर्तव्य मार्गों पर पुनः स्थापित हो इसके लिए हम सबको मिलकर अपने समाज को जगाने का काम करना पड़ेगा । 

पंडित हरिवंश द्विवेदी प्रदेश संगठन मंत्री (युवा शक्ति) ने कहा कि हमें अपनी देववाणी भाषा के लिए पुनः गुरुकुलों की स्थापना करनी पड़ेगी और संस्कृत भाषा का विस्तृत प्रचार प्रसार करना पड़ेगा तभी हम ब्राह्मणों की चेतना जागृत होगी। राजापुर के युवा समाजसेवी अशोक गुप्ता एकीकृत ब्राह्मण महासंघ के विचारों से प्रभावित होकर संगठन की व्यवस्था का पूरा कार्य संभाला ।

 अशोक गुप्ता ने कहा मैं ऐसे संगठन की सेवा कार्य में हूं जो लोग कल्याण के लिए अग्रसर हैऔर इस संगठन की सेवा करके मैं आज अपने आप को बहुत ही गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं। इस मौके पर श्यामसुंदर मिश्र, रघुवीर मिश्रा प्रमुख व्यवस्थापक तुलसी स्मारक, सुनील मिश्रा सतीश मिश्रा रामबाबू तिवारी, संतोष शुक्ला श्रवण गर्ग आदि सैकड़ों परशुराम के वंशज मौजूद रहे ।