महुआ गांव में चल रही सात दिवसीय श्रीमद्भागवत भागवत कथा का कलश विसर्जन के साथ समापन

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

पीलीभीत। सावन के पावन महीना में भगवान शिव को जलाभिषेक कराया जा रहा है शिवालयों में हर-हर महादेव के नारे गूंज रहे हैं वही गजरौला थाना क्षेत्र के गांव महुआ में बदायूं जिला से पधारे आचार्यों के मुखारविंद से श्रीमद्भागवत कथा का रसपान कराया गया। सात दिवसीय चली श्रीमद् भागवत कथा का कलश विसर्जन के साथ समापन हो गया। यज्ञ में पूर्णाहुति के साथ कन्याओं को भोज कराया गया।

सात दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा का अनुष्ठान महुआ गांव के ग्रामीणों ने कराया। बदायूं जिला  से पधारे जगपाल शास्त्री कुंती शास्त्री और गोविंद शास्त्री के मुखारविंद से ग्रामीणों ने श्रीमद् भागवत कथा का श्रवण किया। राजा हरिश्चंद्र भगवान श्री कृष्ण की बाल लीलाएं श्री राम सीता स्वयंवर शिव पार्वती विवाह आदि वृतान्तों को सुनकर भक्तगण मंत्रमुग्ध हुए। 

कलाकारों द्वारा सुंदर सुंदर झांकियों ने कथाओं को जीवंत कर दिया। श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन समस्त ग्रामीणों के सहयोग से कराया गया। शुक्रवार को यज्ञ में पूर्णाहुति के साथ श्रीमद् भागवत कथा का समापन हो गया कन्याओं द्वारा कलश विसर्जन कराए गए वही कमेटी द्वारा कन्याओं को भोज कराया गया। 

आचार्य गोविंद शास्त्री ने बताया  महुआ गांव की सुख समृद्धि और वैभव के लिए सात दिन तक यज्ञ में आहुतियां दी गई । शुक्रवार को यज्ञ देवता को पूर्णाहुति दी गई। कमेटी में अजय मौर्य बीरबल सुरेश वर्मा महेंद्र प्रजापत लीलाधर प्रजापत धनीराम मौर्य हीरालाल मौर्य उर्फ लल्लू राम सिंह यादव हरिशंकर यादव अजय वीर यादव रामऔतार मौर्य संतराम मौर्य डॉ0 हरीराम मौर्य या राम प्रजापत राधेश्याम वर्मा हीरालाल नोनी राम ज्वाला प्रसाद रामविलास ज्ञान ज्ञान प्रकाश मौर्य भगवान दास सहित सैकड़ों भक्तगण मौजूद रहे।