IRE vs NZ: तीसरे वनडे में 1 रन से हराकर न्यूजीलैंड ने मारी बाजी, हार के बावजूद आयरलैंड ने जीता फैंस का दिल

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

न्यूजीलैंड ने आयरलैंड को तीसरे वनडे में 1 रन से हराकर तीन मैच की सीरीज में मेजबानों का सूपड़ा साफ किया। इस हर के बावजूद आयरलैंड ने क्रिकेट फैंस का दिल जीत लिया। दरअसल, न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए मार्टिन गप्टिल के शतक की मदद से बोर्ड पर 360 रनों का विशाल स्कोर टांग दिया था, मगर मेजबान टीम ने शानदार बल्लेबाजी का प्रदर्शन करते हुए निर्धारित 50 ओवर में 9 विकेट के नुकसान पर 359 रन बनाए। आयरलैंड मात्र एक रन से इस मैच को हारा। आयरिश टीम के लिए सलामी बल्लेबाज पॉल स्टर्लिंग (120) और हैरी टेक्टर (108) ने शतकीय पारी खेली। 

आयरलैंड की टीम इस समय लाजवाब खेल दिखा रही है, पिछले चार मुकाबलों में से यह तीसरी बार है जब टीम मैच जीतने से चूकी है। भारत के खिलाफ टी20 सीरीज के आखिरी मैच में आयरलैंड ने 225 रनों का पीछा करते हुए 221 रन बनाए थे। वहीं न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले वनडे में भी टीम मात्र एक ही विकेट से हारी थी। आयरलैंड के खिलाड़ियों के इस लाजवाब परफॉर्मेंस को देखने के बाद हर कोई उन्हें सलाम कर रहा है।

बात मुकाबले की करें तो कीवी टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया। सलामी बल्लेबाज मार्टिन गप्टिल ने 15 चौके और 2 छक्कों की मदद से 115 रनों की नाबाद पारी खेली। वहीं हेनरी निकोल्स ने 54 गेंदों पर 79 रनों की धुआंधार पारी खेली। न्यूजीलैंड की टीम 50 ओवर में 6 विकेट के नुकसान पर 360 रन बनाने में कामयाब रही। उस समय ऐसा लग रहा था कि न्यूजीलैंड आसानी से मैच जीत जाएगी, मगर किसी को अंदाजा नहीं था कि मेजबान टीम ऐसे बल्लेबाजी करेगी।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी आयरिश टीम को पहला झटका 7 के स्कोर पर कप्तान एंड्रयू बालबर्नी के रूप में लगा जो बिना खाता खोले पवेलियन लौटे। वहीं 10 ओवर का खेल खत्म होने से पहले एंडी मैकब्राइन भी 26 के निजी स्कोर पर आउट हो गए। उस समय पॉल स्टर्लिंग का साथ देने आए हैरी टेक्टर ने चौथे विकेट के लिए 179 रनों की साझेदारी कर न्यूजीलैंड को मुश्किल में डाल दिया। 241 के स्कोर पर आयरलैंड को तीसरा झटका स्टर्लिंग के रूप में लगा। 

इस विकेट के बाद न्यूजीलैंड ने मैच में वापसी करने का मौका मिला। निचले क्रम के बल्लेबाजों ने जल्दी रन बनाने के प्रयास में विकेट खोए, वहीं टेक्टर भी 310 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। जब हेक्टर आउट हुए तो टीम को 39 गेंदों पर 51 रनों की दरकार थी, मगर आयरिश टीम यह कमाल करने से चूक गई।