डीएम के आदेशों के बाद भी सरकारी कार्यालय में प्राइवेट कर्मचारी कर रहे कार्य ,मामला रामपुर मथुरा ब्लॉक का है

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

ब्यूरो , सीतापुर : जनपद सीतापुर की तहसील महमूदाबाद के ब्लाक रामपुर मथुरा में ग्राम पंचायत रामपुर मथुरा सेक्रेटरी के कार्यालय में काफी दिनों से तैनात प्राइवेट मुंशी अवधेश गुप्ता आज भी कर रहा है कार्य आपको बता दें कि इससे पूर्व में ग्राम पंचायत रामपुर मथुरा के परिवार रजिस्टर में कई लोगों के परिवार में कर चुका है हेरा फेरी व परिवार रजिस्टर 17 नंबर अपने घर में रखे हुए पूर्व में रहे सेक्रेटरी कुलदीप कुमार के द्वारा 2017 में जारी की गई थी ।

परिवार रजिस्टर की नकल मकान संख्या 80 क 80 ख दिनांक 07-01-2017 को जारी की गई थी जिसमें परिवार रजिस्टर नकल मकान संख्या 80 क में रामदयाल पुत्र मेडीलाल, रामकली पत्नी रामदयाल दर्ज है,  रामदयाल के छोटे भाई रामविलास का परिवार 80 ख पर रामविलास पुत्र मेडी लाल, सुमिरता देवी पत्नी रामविलास, शिव देवी पुत्री रामविलास दर्ज है जब परिवार रजिस्टर नकल की दोबारा जरूरत लगी ।

प्रार्थीनी शिव  देवी पुत्री राम विलास को तो 2018 में मौजूदा सेक्रेटरी दिलीप सिंह ने रामविलास के परिवार की परिवार रजिस्टर नकल नए रजिस्टर मकान संख्या 739 पर दर्ज परिवार की नकल जारी की जिसमें रामविलास पुत्र मेडी लाल, सुमित्रा पत्नी रामविलास, श्री राम पुत्र रामविलास, माधुरी पुत्री रामविलास, सरस्वती पत्नी रामदयाल दर्ज है यह नकल दिलीप सिंह सेक्रेटरी के द्वारा 14 -12 -2018 को जारी की गई। 

सेक्रेटरी कुलदीप कुमार,दिलीप सिंह,अवधेश गुप्ता मुंशी के द्वारा सरकारी अभिलेख परिवार रजिस्टर रामपुर मथुरा मैं हेराफेरी करने व अभिलेख गायब करने में संलिप्ता है जिसकी ऑडियो रिकॉर्डिंग भी मौजूद है जिसमें साफ-साफ अवधेश गुप्ता कह रहे हैं कि परिवार रजिस्टर मेरे पास है लेकिन अधिकारियों के द्वारा कोई भी कार्रवाई इन तीनों पर नहीं कराई गई पूर्व रजिस्टर में कई परिवारों को लाभ मिल सकता है लेकिन वह रजिस्टर प्राइवेट मुंशी अवधेश गुप्ता अपने घर पर रखे हुए हैं ।

प्रार्थीनी शिव देवी पुत्री राम विलास 4 वर्षो से ब्लॉक के चक्कर काट रही नही मिला न्याय फ़्रॉड करवाने वाले 7 लोगों के खिलाफ महमूदाबाद कोतवाली में एफ आई आर  भी दर्ज है । धारा 419,420,467,468,506 में सरकारी अभिलेख में हेराफेरी व गायब करने के जुर्म में अभी तक ब्लॉक के अधिकारियों के द्वारा साजिस करता कर्मचारी अधिकारी के खिलाफ कोई भी कार्रवाई नहीं कराई गई साक्ष्य उपलब्ध होने के बावजूद नहीं हुई अभी तक कोई कार्रवाई।