बाढ़ व विभिन्न आपदाओं से बचाव के लिए एनडीआरएफ द्वारा प्रदान किया गया प्रशिक्षण

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

जिला आपदा प्रबन्ध प्राधिकरण के तत्वाधान में केडीसी में आयोजित हुआ प्रशिक्षण

बहराइच। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी एवं शासन के स्पष्ट निर्देश है कि बाढ़ आपदा के दौरान बेहतर बचाव एवं राहत कार्यो के संचालन के लिए बाढ़ से पूर्व फुलप्रुफ प्रबन्ध किये जाय। शासन के निर्देश के क्रम में जिलाधिकारी डॉ0 दिनेश चन्द्र के कुशल नेतृत्व में जिला आपदा प्रबन्ध प्राधिकरण के तत्वाधान में जनपद के उच्च व माध्यमिक विद्यालयों में बाढ़ व विभिन्न आपदाओं के दौरान बचाव के तरीको की जानकारी प्रदान करने के उद्देश्य से प्रशिक्षण कार्यक्रम के प्रथम दिन किसान पीजी कालेज में एनडीआरएफ की 11वीं बटालियन के टीम कमाण्डर इस्पेक्टर आर.बी. गौतम के नेतृत्व में एनडीआरएफ टीम के द्वारा एनसीसी कैडेट्स, एनएसएस, आपदा मित्र सहित अन्य विद्यार्थियों को प्रशिक्षण प्रदान किया गया।

प्रशिक्षण के दौरान बाढ़ आपदा बचाव के उपाय, लाइफ जैकेट, लाइफ ब्याय का प्रयोग करने, घरेलू सामानों से राफ्ट बनाने, प्राथमिक उपचार, कम्बल, बोरी, टीशर्ट, रद्दी इत्यादि के सहयोग से स्ट्रेचर बनाने, अग्निशमन यंत्र को चलाने के तरीके इत्यादि के बारे में प्रशिक्षण प्रदान किया गया।

 इसके अलावा अग्निशमन यंत्र का प्रयोग करने, कमरे में धुंआ भर जाने से बचाव के उपाय, अपने कपड़ो में आग लगने के पश्चात् बचने का उपाय, सीपीआर के माध्यम से जान के बचाने, भूकम्प आने पर क्लास रूम से बाहर निकलने आदि का पूर्वाभ्यास के माध्यम से जानकारी प्रदान की गयी।

प्रशिक्षण के दौरान आपदा विशेषज्ञ सुनील कुमार कनौजिया द्वारा बाढ़ के पूर्व, बाढ़ के दौरान, बाढ़ के पश्चात् क्या करें, क्या न करें के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की गयी। इसके साथ ही आकाशीय बिजली से बचने के लिए दामिनी ऐप के महत्व के बारे में जानकारी देते हुए मौजूद लोगों को दामिनी ऐप भी लोड कराया। साथ में सर्पदंश से बचाव के बारे में भी बताया गया। इस अवसर पर केडीसी के प्राचार्य विनय सक्सेना, पूर्व प्राचार्य मेजर एस.पी. सिंह सहित महाविद्यालय के शिक्षकगण व अन्य सम्बन्धित मौजूद रहे।