कुशल वाटिका प्रेरिका साध्वी डॉ. विधुतप्रभा श्री की निश्रा में हुआ कार्यक्रम

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क   

साध्वी डॉ. विधुतप्रभाश्री आदि ठाणा चातुर्मास के चार माह कुशल वाटिका में रहेंगे विराजमान

कुशल वाटिका में शनिवार मेले में उमड़े श्रद्वालु

गिरनार भक्त मण्डल द्वारा भक्ति के माध्यम से हुआ धार्मिक कार्यक्रम

बाडमेर । स्थानीय कुशल वाटिका में विश्व का अद्वितीय राजहंस मन्दिर में शनिवार कों सैकड़ो श्रद्वालुओं ने दर्शन कर पूजा अर्चना की और कुशल वाटिका में चातुर्मास में विराजमान माताजी म.सा. रतनमालाश्री व बहन म.सा. डॉ. विधुतप्रभाश्री के दर्शन वन्दन का लाभ लिया। कुशल वाटिका ट्रस्ट के उपाध्यक्ष द्वारकादास डोसी व कोषाध्यक्ष बाबुलाल टी बोथरा ने बताया कि चार माह चातुर्मास के चलते वर्षावास में कुशल वाटिका में विराजमान कुशल वाटिका प्रेरिका बहन म.सा. साध्वी डॉ. विधुतप्रभा श्रीजी की निश्रा में बाडमेर शहर के समीप कुशल वाटिका प्रांगण शनिवार को मेले का आयोजन किया गया, जिसमें बाडमेर सहित आस-पास के अन्य गावों से पधारे श्रद्वालुओं दर्शन वन्दन कर पूजा अर्चना की। कुशल वाटिका में मुनिसुव्रत स्वामी भगवान मन्दिर, दादावाडी, नवग्रह मन्दिर, गुरू मन्दिर, देवी-देवताओ के आदि मन्दिरो के दर्शन, पूजा का आनन्द लिया। डोसी ने बताया कि शनिवार को कुशल वाटिका में प्रातः 6 बजे से भक्तो का दर्शन व पूजा के लिए आना-जाना शुरू हो गया जो पुरे दिन मेले लगा रहा ओर गौरतलब है कि हर शनिवार को हजारो भक्त दर्शन कर खुशहाली की कामना करते है। शनिवार को कुशल वाटिका मन्दिर प्रांगण में कुशल वाटिका प्रेरिका बहन म.सा. साध्वी डॉ. विधुतप्रभा श्रीजी आदि ठाणा की निश्रा में प्रातः 07.30 बजेे गिरनार भक्त मण्डल द्वारा शंखनाद व ढोल की थाप लय व सुर के साथ भक्ति भावना के माध्यम से मुलनायक भगवान का पक्षाल किया गया और विधि व श्लोक के साथ केशर पूजा व भक्तिमय आरती की गई और रात्रि संगीत के माध्यम से भव्य आरती की गई और आंगी सजाई गई। भक्तों द्वारा केशर पूजा करने से मन को शान्ति जैसा आनन्द मिल रहा था। इसी मेले के दौरान बारिश के मौसम में ठण्डा दिन होने की वजह से हरयाली के माहौल में बच्चे झूलों का आनन्द ले रहे थे। जहां कुशल वाटिका ट्रस्ट मण्डल की और से भाता प्रभावना दी गई। कुशल वाटिका में विराजमान माताजी म.सा. रत्नमाला श्रीजी व कुशल वाटिका प्रेरिका बहन म.सा. साध्वी डॉ. विधुतप्रभा श्रीजी व अन्य साध्वीवृंद्व के दर्शन वन्दन की सुखशाता पुछी गई। कुशल वाटिका उपाध्यक्ष रतनलाल संखलेचा ने बताया कि कुशल वाटिका में शनिवार को मुनिसुव्रत स्वामी के पक्षाल व आरती का लाभ द्वारकादास भगवानदास डोसी परिवार, केशर पूजा का लाभ सन्तोष कुमार लोढा परिवार राजनांदगांव वालों द्वारा लिया गया, जिनका ट्रस्ट मण्डल द्वारा अनुमोदना की गई। कुशल वाटिका शनिवार मेले में उपाध्यक्ष द्वारकादास डोसी, उपाध्यक्ष रतनलाल संखलेचा, सहकोषाध्यक्ष जगदीशचन्द बोथरा, प्रचारमंत्री केवलचन्द छाजेड़, ट्रस्टी सज्जनराज मेहता, छगनलाल बोथरा, कैलाश धारीवाल, बाबुलाल सेठिया, चम्पालाल बोथरा मारसा, पूर्व नगर परिषद सभापति उषा जैन, सम्पतराज श्रीश्रीमाल, पवन सिंघवी एलएच, सम्पतराज सिंघवी चीकु, अशोक धारीवाल, प्रकाश लूणिया, कपिल धारीवाल, अशोक सेठिया, विपुल बोथरा, जयेश जैन, सुनिल बोथरा, महावीर छाजेड, निखिल छाजेड, हिमांशु धारीवाल, रूपेश संखलेचा, जयप्रकाश वडेरा, आशीष बोहरा भरत संखलेचा, मोती छाजेड़, सुमेर जैन, महावीर संखलेचा, सुनिल सिंघवी, मुकेश बोथरा, जितेन्द्र लूणिया, सुनिल छाजेड़, चमन वडेरा, अंकित बोहरा, जिनेश मेहता, मितेश जैन, कपिल वडेरा, दीक्षित सिंघवी, राहुल बोथरा, सुनील बोथरा, दीक्षित बोहरा, अंकित नाहटा, दीपक बोथरा, पत्रकार अशोक राजपुरोहित, प्रकाश विश्नोई, हितेश डूंगरवाल, राजेन्द्र मालू धोरीमन्ना, रतनलाल मालू, व ट्रस्ट मण्डल के साथ साथ अखिल भारतीय खरतरगच्छ युवा परिषद, गिरनार भक्त मण्डल, कुशल वाटिका मित्र मण्डल सहित कई भक्तगण उपस्थित थे।