भोले तुम ही मेरे आधार

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 


डमरू वाले बाबा,

        सुन लो मेरी पुकार।

द्वार तुम्हारे मैं आया,

        करना मेरा उद्धार।।

तेरे बिन मैं कुछ नहीं,

        तुम ही मेरे आधार।।


तुम हो पाप विनाशक,

         तुम ही हो पालनहार।

याचक तुझको जो माँगे,

         कर देते हो उपकार।।

तेरे बिन मैं कुछ नहीं,

         तुम ही मेरे आधार।।


तुम हो भगवन भोले,

          करते हो,सबका बेड़ापार।

तेरी महिमा तू ही जाने,

          तेरी लीला अपरम्पार।।

तेरे बिन मैं कुछ नहीं,

          तुम ही मेरे आधार।।


तुम नाथों के नाथ,

      स्वामी,जटा में गंगा धार।

काया भष्म लगावे,

         गले नागों का हार।।

तेरे बिन मैं कुछ नहीं,

          तुम ही मेरे आधार।।


सारा जग तेरा उपासक,

       चढ़ावे बेलपत्र उपहार।

दैत्यों का संहार करते,

            ताण्डव प्रलयंकार।।

तेरे बिन मैं कुछ नहीं,

             तुम ही मेरे आधार।।


तुम शंकर,शशिशेखर

        कहते तुमको महाकाल।

गरल हलक उतार लिए,

       हैं त्रिनेत्र तुम्हारे भाल।।

तेरे बिन मैं कुछ नहीं,

        तुम ही मेरे आधार।।


      महेन्द्र साहू"खलारीवाला"

       गुण्डरदेही बालोद छ ग