रजबहा मलेथू फिरोजपुर माइनरों में नही आ रहा पानी ,सूख रही फसलें, किसान परेशान ,कौन है जिम्मेदार ।

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

ब्यूरो , सीतापुर । जनपद सीतापुर की तहसील महमूदाबाद क्षेत्र के किसानों को धान व गन्ने की सिंचाई करने के लिए काफी कड़ी मेहनत कर के पम्पिंग सेट से महंगी सिंचाई करना पड़ रहा है। क्योंकि खेतों के पास से निकली माइनरों व नलकूप की ध्वस्त पाइप लाइनों में से पानी ही नही आ रहा है। और न तो नलकूप विभाग ट्यूबेल की कुछ क्षेत्रों ध्वस्त पड़ी पाइप लाइनो को सही नही कर रहा है। क्योकि पहला क्षेत्र के कई गांवों को नलकूप ट्यूबेल से जाने वाली पानी की पाइप लाइन ध्वस्त पड़ी हुई है। 

और वही शारदा सिंचन बिभाग, रजबहा मलेथू , माइनर फिरोजपुर, माइनर लबरहा, माइनर सिरौली कांसा आदि में पानी न आने से  किसानों को धान रोपाई करने में व धान , गन्ना की सिंचाई करने  में मजबूरन पम्पिंग सेट से खेतों की महंगी सिचाई करना पड़ रहा है। जिससे फिरोजपुर, सिरौली ,तुरसेना, दरियापुर, वाजिद नगर, लालापुर, सैर, कोरार, कांसा, लोधासा ,बंभौरा, भेथरा माधव , सरैया बलदेव सिंह , न्यामतपुर लबरहा आदि ग्राम पंचायत के ग्रामीणों से बात की गई तो उन्होंने  बताया कि गन्ना व धान की फसलें पानी न पाने के कारण मुरझा रही है। 

और कुछ किसानों ने बताया कि बारिश न होने के कारण व महंगी सिंचाई से परेशान होकर धान की रोपाई भी अभी नही हो पाई है। वही मौजूद किसानों का कहना है कि यदि क्षेत्र की रजबहा मलेथू फिरोजपुर सिरौली आदि माइनरों  में पानी आ जाता तो शायद ही कुछ किसानों को धान की रोपाई व गन्ने की सिचाई करने में माइनरों में चल रहे पानी से लाभ मिल जाता । 

तथा कुछ किसानों के धान के खेत में धरारे भी पड़ना शुरू हो गई है। तो कुछ किसानों के  धान व गन्ना के खेत सूख कर मुरझाने लगे है। लेकिन संबंधित अधिकारी ध्वस्त माइनरों पर नजर नही डाल रहे है। इस लिए ग्रामीण मीडिया के माध्यम से रजबहा मलेथू माइनर फिरोजपुर, सिरौली कांसा माइनर में पानी छोड़ने की मांग कर रहे है। जिससे किसानों को खेती करने में माइनरों के पानी का लाभ मिलने लगेगा ।