भगवान शिव का एक स्वरूप नटराज: डॉ. लोकेश वत्स

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

सहारनपुर। कला एवं कलाकारों को समर्पित अंतरराष्ट्रीय संस्था संस्कार भारती के सहारनपुर विभाग के अंतर्गत जिला सहारनपुर के तत्वावधान में नटराज पूजन एवं गुरु सम्मान कार्यक्रम जनपद के देदनोर ग्राम स्थित ज्ञानदीप उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में हर्षाेल्लास के साथ संपन्न हुआ।

कार्यक्रम की अध्यक्षता विभाग संयोजक वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. लोकेश वत्स एडवोकेट ने की। मुख्य अतिथि कला प्रेमी वीरेंद्र प्रताप सिंह रहे। कार्यक्रम का कुशल संचालन विधा प्रमुख श्रीमती विदिता ने किया। कार्यक्रम का शुभारंभ प्रसिद्ध गीतकार संगीतकार अशोक आनंद ने अपनी मखमली आवाज में संस्कार भारती के ध्येय गीत से किया।

दीप प्रज्वलन अध्यक्षता कर रहे विभाग संयोजक डॉक्टर लोकेश वत्स व मुख्य अतिथि ठाकुर वीरेंद्र प्रताप सिंह ने संयुक्त रूप से किया। इस अवसर पर मुकुल गुप्ता जिला अध्यक्ष संस्कार भारती ने कहा गुरु अपने परिश्रम व समर्पण से हमारी कलाओं व  ज्ञान को आगे बढ़ाते हैं। 

विभाग संयोजक डॉ. लोकेश वत्स ने कहा नटराज पूजन प्रतीक है भगवान शिव का एक स्वरूप नटराज है। नटराज को सभी कलाओं का अधिष्ठापन माना जाता है। चौदह विधाओं और चौंसठ कलाओं का प्रगटन भगवान शिव से ही होता है।

नटराज पूजन के अवसर पर विद्यार्थियों में कनक देवी, सिमरन, दीपांशी, अनुष्का, आस्था, कुलवंत, शुभम आदि ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से अपनी कला का प्रदर्शन किया।

इस अवसर पर श्रीमती अनु चौधरी, श्रीमती विभा, पूजा रानी, प्रीति चौहान, मुनेश रानी, साक्षी रानी, नितिन, अक्षय धीमान, आकाश कुमार, अर्जुन सिंह, अमन कुमार, सचित कुमार आदि उपस्थित रहे।