सावन के महीने में करें ये वास्तु उपाय, घर में आएगी सुख-समृद्धि

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

श्रावण मास शुरु हो चुका है। इस महीने में भोलेनाथ की कृपा पाने के लिए लोग उन्हें प्रसन्न करते हैं। ऐसा माना जाता है कि भोलेनाथ को श्रावण मास बहुत ही ज्यादा प्रिय है। इस महीने में भगवान शिव बहुत ही प्रसन्न मुद्रा में रहते हैं। इसलिए भक्त उन्हें प्रसन्न करने के लिए कई उपाय भी करते हैं। वास्तु शास्त्र के अनुसार, आप इन कुछ आसान से तरीकों के जरिए भगवान शिव को प्रसन्न कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं उनके बारे में...

जल स्त्रोत लगाएं इस दिशा में 

भगवान शिव को जल बहुत ही पसंद है। इस महीने में आप उत्तर दिशा में जल स्त्रोत स्थापित कर सकते हैं। इस दिशा में जल स्त्रोत बहुत ही शुभ माना जाता है। इससे आपके घर में पॉजिटिविटी आती है और पैसे का प्रवाह भी काफी बढ़ता है। यदि आप उत्तर दिशा में जल स्त्रोत नहीं लगा सकते तो फिर पूर्व दिशा में ऑर्टिफिशयल वाटर फांउटेन लगा सकते हैं। वास्तु शास्त्र के अनुसार, इससे आपको महत्पूर्ण निर्णय लेने में आसानी होगी। 

मनी प्लांट की दिशा 

सावन का माह बारिश का होता है। यदि आप इस महीने पौधे लगाते हैं तो इनकी ग्रोथ भी बहुत अच्छे से हो जाएगी। आप उत्तर दिशा में मनी प्लांट लगाकर सुख-समृद्धि प्राप्त कर सकते हैं। सावन का महीना घर में मनी प्लांट लगाने के लिए बहुत ही अच्छा होता है। मान्यताओं के अनुसार, जैसे-जैसे मनी प्लांट बढ़ता है वैसे-वैसे आपके घर में धन भी बढ़ता जाता है।

भगवान शिव की लगाएं ऐसी प्रतिमा 

इस महीने में भगवान शिव के अर्द्धनारीश्वर रुप की पूजा करना बहुत ही शुभ माना जाता है। इस प्रतिमा को आप पूर्व दिशा में लगा सकते हैं। इससे आपको विशेष लाभ की प्राप्ति भी होगी। इसके अलावा पति-पत्नी के बीच में प्यार भी बढ़ता है। यदि कोई व्यक्ति की झोली खाली है तो इस दिशा में मूर्ति रखने से वो भी भर जाएगी। 

तुलसी का पौधा लगाएं 

घर में तुलसी का पौधा सुख और सौभाग्य की निशानी होता है। यदि आपके घर में तुलसी का पौधा नहीं है तो आप सावन के महीने में यह पौधा लगा सकते हैं। इससे भी आपको सुख-समृद्धि की प्राप्ति होगी। तुलसी का पौधा आप उत्तर दिशा में लगाएं। यदि कुंवारी कन्याएं इस महीने में तुलसी का पौधा लगाएं तो उनकी शादी के जल्द ही योग बन जाते हैं। 

नियमित तौर पर छिड़कें गंगाजल 

मान्यताओं के अनुसार, सावन के महीने में चारों तरफ बहुत ही ज्यादा ऊर्जा होती है। इस दौरान गंगाजल का घर में छिड़काव बहुत ही शुभ माना जाता है। इससे आपके घर का वास्तुदोष समाप्त होता है। रोज सुबह स्नान करने के बाद पूरे घर में आप गंगाजल का छिड़काव करें। इससे घर की नेगेटिव एनर्जी भी खत्म होती है।