सरल नहीं है शिव बन जाना

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 


सरल  नहीं  है  शिव  बन  जाना ,

हलाहल   गरल  को  पी   जाना ,

जटाओं     में    भागीरथी    को

सुगमता   से   कैद   कर   पाना !

सुंदर   सृष्टि    को   बचा   पाना !


सरल  नहीं  है  शिव  बन  जाना ,

तन मन को  धवल  शुद्ध करना ,

भौतिक से  आत्मिक सफर का

मार्गदर्शक     अग्रणी      बनना !

हृदय   में   प्रेम   लगन  जगाना !


सरल  नहीं  है  शिव  बन  जाना ,

सन्यासी    स्वभाव   हो    जाना ,

संपूर्ण     शक्ति    का    आधार

ज्योति प्रतीक स्वरूप बन जाना !

संसार   के   दुःखो   को   हरना !

        

           ✍️ज्योति नव्या श्री

           रामगढ़ ,झारखण्ड