महंगा हुआ बच्चों का बैग, पेन-कॉपी की कीमतें 35 प्रतिशत तक बढ़ीं

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क  

-दुकानदारों का घटा मुनाफा अभिभावकों की निकल रही आह 

 बांदा। खाद्य पदार्थों के बाद अब छोटे से बड़े बच्चों की पढ़ाई पर भी महंगाई का असर पड़ा है। किडजी, नर्सरी, शिशु मंदिर से लेकर डिग्री कालेज स्तर तक जहां 10 से 15 प्रतिशत फीस की बढ़ोत्तरी हुई हैं वहीं स्टेशनरी व कापी-किताबें भी महंगी हुई हैं। पेन-पेंसिल, स्याही, रजिस्टर, कॉपी, कागज और फाइल आदि की कीमतों में 30 से 35 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हो गई है। 

कारोबारियों के मुताबिक कच्चे माल की आपूर्ति व उसकी कीमतों से प्रोडक्शन में दिक्कत आ रही है। दो महीने के भीतर कागज की कीमतों में करीब 30 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है। इससे कापी-किताब और स्टेशनरी पर एक बच्चे पर 10 से 12 हजार रुपये तक खर्च करना पड़ रहा है। पहले यह सामान आठ हजार रुपये तक में मिल जाता था।