राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सदस्यों ने अधिकारियों के साथ की बैठक

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क  

बहराइच। राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सदस्य श्याम त्रिपाठी व सदस्य श्रीमती अनीता अग्रवाल ने कलेक्ट्रेट सभागार में जिले के अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, ‘‘एक युद्ध नशे के विरूद्ध’’, पीकू वार्ड व बाल संरक्षण से जुड़ी योजनाओं की समीक्षा करते हुए जिला विद्यालय निरीक्षक व जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिया कि निजी विद्यालयों का भी निरीक्षण कर बालक-बालिकाओं के लिए उपलब्ध सुविधाओं, पठन-पाठन की गुणवत्ता इत्यादि का जायज़ा लेते हुए शासन द्वारा निर्धारित मानकों का अनुपालन सुनिश्चित करायें। सदस्यों द्वारा यह भी निर्देश दिया गया कि विद्यालयों के निरीक्षण के दौरान विद्यालयों के पास बच्चों के बौद्धिक एवं शारीरिक विकास के लिए उपलब्ध संसाधनों को भी देखें विशेषकर विद्यालय के पास उपलब्ध खेल के मैदान के बारे में भी जानकारी प्राप्त की जाय।

स्वास्थ्य सेवाओं की समीक्षा करते हुए सदस्यों द्वारा निर्देश दिया गया कि पीकू वार्ड, एनआरसी, सीएससी केन्द्र व ऑगनबाड़ी केन्द्रों पर शासन द्वारा निर्धारित मानक के अनुसार व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जायें ताकि बच्चों को किसी प्रकार की कोई समस्या न होने पाये। सदस्यों द्वारा यह भी सुझाव दिया गया कि सरकारी चिकित्सकों के प्राईवेट प्रैक्टिस पर भी प्रभावी अंकुश लगायें।

सदस्यों द्वारा बालश्रम पर प्रभावी अंकुश के लिए आमजन में जागरूकता लाने के उद्देश्य से व्यापक स्तर पर जागरूकता अभियान संचालित करने का सुझाव देते हुए बालश्रम से सम्बन्धित मामलों में कड़ी कार्रवाई कराये जाने की भी अपेक्षा की गयी। महिला एवं बाल विकास विभाग तथा स्वास्थ्य विभाग के ग्राम स्तरीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों का आहवान्ह किया कि प्रदेश को कुपोषण मुक्त करने के उद्देश्य से संचालित किये जा रहे कार्यक्रमों को सफल बनाये जाने के लिए सक्रिय सहयोग प्रदान करें। बैठक के दौरान ‘‘एक युद्ध नशे के विरूद्ध’ अभियान के सम्बन्ध में भी चर्चा की गयी।

इस अवसर पर अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अशोक कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एस.के. सिंह, पुलिस क्षेत्राधिकारी पयागपुर राजीव सिसोदिया, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एम.एम.एम. त्रिपाठी, अपर मुख्य अधिकारी ज़िला पंचायत प्रदीप कुमार गुप्ता, श्रम उपायुक्त सिद्धार्थ मोदियानी, जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. चन्द्रपाल, क्रीड़ाधिकारी नीरज कुमार मिश्रा, जिला प्राबेशन अधिकारी विनय कुमार सिंह व अन्य अधिकारी तथा बाल कल्याण समिति के सदस्य श्रवण कुमार शुक्ला व सतीश श्रीवास्तव सहित अन्य सम्बन्धित मौजूद रहे।

बैठक के उपरान्त मदरसा दारूल फिक्र दरगाह शरीफ व दारूल उलूम मिसबहिया सलारगंज का निरीक्षण पठन-पाठन की व्यवस्था तथा अध्ययनरत बच्चों के लिए उपलब्ध सुविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्त करते हुए मौके पर मौजूद जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी संजय मिश्रा को आवश्यक दिशा निर्देश दिये।