पानी बाबा आओ रे !

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क   


पानी बाबा आओ रे,

मिलकर धूम मचाओ रे,

गरज गरज गरजाओ रे,

तड़तड़ तड़तड़ चमके

बिजुरिया सबका मन

हर्षाओ रे !


गर्मी में घबराये हम,

कूलर खूब चलाये हम,

तगड़े बिजली बिल चुकाये हम,

फिर भी परेशान हो जायें हम !


पानी बाबा आओ रे,

मिलकर धूम मचाओ रे,

गरज गरज गरजाओ रे,

तड़तड़ तड़तड़ चमके

बिजुरिया सबका मन

हर्षाओ रे !


- जयश्री वर्मा  " शिक्षिका "

  इंदौर, मध्यप्रदेश