त्योहार ईद उल फितर, अक्षय तृतीया, परशुराम जयंती आदि के अवसर पर समीक्षा गोष्ठी का आयोजन

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

ब्यूरो , सीतापुर : जनपद सीतापुर में पुलिस उप महानिरीक्षक/पुलिस अधीक्षक सीतापुर आर.पी. सिंह द्वारा जनपद के समस्त राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना/शाखा प्रभारियों की गोष्ठी आहूत की गयी। इस दौरान महोदय द्वारा प्राथमिकताओं को स्पष्ट करते हुए विभिन्न बिंदुओं पर समीक्षा कर निम्न दिशा निर्देश दिये गये 1.आगामी त्यौहार ईद उल फितर, अक्षय तृतीया, परशुराम जयंती के अवसर पर होने वाले कार्यक्रमों/जुलूसों आदि का विवरण एवं सकुशल संपन्न कराये जाने हेतु की गयी तैयारियों की समीक्षा कर आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये।

2.थाने पर जब्तशुदा वाहनों के नियमानुसार निस्तारण हेतु निर्देशित किया गया। 3.थाना परिसर की साफ सफाई बनाये रखने हेतु निर्देश दिये गये। 4.जिला बदर अपराधियों, माफिया गैंगो व पूर्व से चिन्हित गैंगो की सक्रियता व उनके संदर्भ में कृत कार्यवाही की समीक्षा कर आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। 5.वांछित/NBW/जिलाबदर अपराधियों के विरुद्ध अब तक की गयी कार्यवाही की समीक्षा कर विभिन्न अभियोगो में वांछित चल रहे अपराधियों की शीघ्र गिरफ्तारी सुनिश्चित करने हेतु निर्देशित किया गया।

6.महत्त्वपूर्ण अभियोगो के निस्तारण एवं अभियुक्तों के विरुद्ध की गयी कार्यवाही तथा अपह्रता/गुमशुदा की बरामदगी की समीक्षा। 7.महिला संबंधी अपराधों की समीक्षा करते हुए जिन प्रकरणों में आरोप पत्र प्रेषित किया जा चुका है उनमें अभियुक्त के विरूद्ध निरोधात्मक कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया। 8.थानों पर लंबित विवेचनाओं/एनसीआर/जांच व अन्य माध्यमों से प्राप्त होने वाले प्रार्थना पत्रों का समयबद्ध की विस्तृत समीक्षा कर त्वरित गुणवत्तापूर्ण निस्तारण किया जाए। 

9.पेशेवर/सक्रिय अपराधियों की हिस्ट्रीशीट खोलने, गैंग पंजीकरण, गैंगस्टर एक्ट के वांछित एवं पुरस्कार घोषित अपराधियों की गिरफ्तारी  तथा आंशिक विवेचनाधीन अभियोगों के निस्तारण की समीक्षा। 10.महिला सशक्तिकरण एवं अपराधियों के प्रति चलाये जा रहे अभियान की समीक्षा। 

11.एंटी रोमियो स्क्वाड द्वारा मिशन शक्ति के अंतर्गत अभियान के दौरान की गयी कार्यवाही की समीक्षा एवं एंटी रोमियों टीमों के द्वारा बाजारों/चौराहा/कस्बे आदि पर निरंतर चेकिंग हेतु निर्देश दिये गये।12.14(1) गैंगेस्टर एक्ट के अन्तर्गत अपराधियों द्वारा अपराध से अर्जित संपत्ति का चिन्हीकरण को बढ़ाने हेतु निर्देश दिये गये।अपराधियों द्वारा अपराध से अर्जित संपत्ति का शीघ्र पता लगाकर उसे कुर्क करने हेतु प्रस्ताव भेजने के लिये भी निर्देश दिये गये।