विकास कार्यो में अधिकारी लाये तेजी: जिलाधिकारी

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

कानपुर देहात : कलेक्ट्रेट सभागार में विकास कार्यो की मासिक समीक्षा बैठक आयोजित हुई। डी0एम0 नेहा जैन ने विभागवार, मदवार, बिन्दुवार समीक्षा की और सम्बन्धित को आवश्यक दिशा निर्देश दिये। इस दौरान मुख्य रूप से मुख्य विकास अधिकारी सौम्या पाण्डेय उपस्थित रही। जिलाधिकारी ने कहा कि विकास कार्यो में तेजी लाते हुए सभी कार्य निर्धारित समय सीमा के अंदर गुणवत्तायुक्त ढंग से पूर्ण करे। निर्माण कार्यो के संबंध में जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि शासन के मंशानुरूप कार्यो की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जाए तथा उन्हें समयबद्धता के साथ पूर्ण भी कराया जाए। जनकल्याणकारी योजनाओं के संबंध में निर्देश दिया कि प्रत्येक स्तर पर पात्र लोगों का ही चयन किया जाये और उन्हें शासन की मंशानुरूप समय से योजना का लाभ दिलाया जाए।

 स्वास्थ्य कार्यक्रमों की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 एके सिंह को निर्देशित किया कि स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को और अधिक सक्रिय करे और यह सुनिश्चित करे सभी अधिकारी व कर्मचारी तैनाती स्थलों पर निवास कर शासन द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ आमजन को उपलब्ध कराये। उन्होंने संस्थागत प्रसव, टीकाकरण, जननी सुरक्षा योजना, चिकित्सकों की उपलब्धता, औषधियों की उपलब्धता, एम्बुलेंस सेवाओं की स्थिति आदि के बारे में बिन्दुवार जानकारी हासिल की। साथ ही उन्होंने चिकित्सकों की शत-प्रतिशत उपस्थित सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। 

इसी के साथ उन्होंनें प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल योजना, विभिन्न पेंशनों, छात्रवृत्ति सहित विभिन्नयोजनाओं की बिन्दुवार समीक्षा की। जिलाधिकारी ने 50 लाख से ऊपर लागत वाली परियोजनाओं की समीक्षा कर सम्बन्धित कार्यदायी संस्थाओं पर नाराजगी जताई और कहा कि सम्बन्धित कार्यदायी संस्था गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखते हुए निर्धारित समय सीमा के भीतर परियोजनाएं पूर्ण करें अन्यथा की स्थिति में कार्यवाही की जायेगी। जिलाधिकारी ने सभी प्रकार की पेंशन के सत्यापन कराने के लिए सम्बन्धित को निर्देशित किया और कहा कि पात्र लोगों को प्रत्येक दशा में पेंशन से लाभान्वित किया जाय। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की समीक्षा के दौरान जिला प्रोबेशन अधिकारी अभिशेक पाण्डेय को निर्देशित करते हुए कहा कि जिला विद्यालय निरीक्षक और जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से समन्वय स्थापित कर पात्र बालिकाओं को योजना से लाभान्वित कराये। इसमें किसी भी दशा में शिथिलता क्षम्य नहीं होगी।

बैठक में जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह अपने अपने कार्यालय में समय से उपस्थित रहकर जनसमस्याओं को सुनकर उनका निस्तारण सुनिश्चित करे और पोर्टल सहित अन्य शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण निस्तारण सुनिश्चित करे। बैठक में अन्य बिंदुओं पर विस्तार चर्चा की गई, इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी सौम्या पाण्डेय, जिला विकास अधिकारी गोरखनाथ भट्ट, पीडी दिनेश यादव सहित सभी जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।