डीएम ने विकास भवन स्थित कार्यालयों का किया आकस्मिक निरीक्षण

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

डीएम के निर्देश पर कई अन्य कार्यालयों का भी हुआ निरीक्षण

अनुपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों से तलब किया गया स्पष्टीकरण

कार्यालयों में समयबद्धता का अनुपालन सुनिश्चित करने के दिये गये निर्देश

बहराइच। मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश शासन के निर्देश पर शासकीय कार्यालयों में अधिकारियों एवं कर्मचारियों की कार्यालयों में समय से उपस्थिति सुनिश्चित कराये जाने, कार्यालय भवनों की साफ-सफाई, अभिलेखों के रख-रखाव सहित अन्य व्यवस्थाओं का जायज़ा लेने के उद्देश्य से जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र ने पूर्वान्ह में विकास भवन स्थित विभिन्न कार्यालयों का निरीक्षण किया। इसके अलावा जिलाधिकारी के निर्देश पर उपायुक्त स्वतः रोज़गार ने सहायक संभागीय परिवहन कार्यालय तथा उपायुक्त मनरेगा ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी एवं जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालयों का आकस्मिक निरीक्षण किया गया।

जिलाधिकारी डॉ. चन्द्र ने पूर्वान्ह में 10ः10 बजे विकास भवन स्थित जिला विकास अधिकारी कार्यालय, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, जिला कृषि अधिकारी, डीआरडीए, मनेरगा, एनआरएलएम, दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी, पशुपालन सहित अन्य कार्यालयों का आकस्मिक निरीक्षण कर अधिकारियों एवं कर्मचारियों की उपस्थिति, साफ-सफाई, अभिलेखों का रख-रखाव इत्यादि का जायज़ा लिया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने कार्यालय की साफ-सफाई व अन्य व्यवस्थाओं के साथ-साथ अधिकारी कक्ष के शौचालयों का भी निरीक्षण किया। उपायुक्त स्वःरोज़गार के कक्ष का टायलेट नीट एण्ड क्लीन पाये जाने पर डीएम ने प्रसन्नता व्यक्त की जबकि डीपीआरओ को निर्देश दिया कि शौचालय को आवश्यकतानुसार अपग्रेड किया जाय।

विकास भवन के निरीक्षण के दौरान मुख्य सीवीओ कार्यालय में वरि.सहा. संतोष कुमार वर्मा व अरविन्द कुमार पाण्डेय, कनि.सहा. श्रीमती ऑफरीन, डीपीआरओ कार्यालय में सहायक पंचायत राज अधिकारी राम शंकर वर्मा, पत्र वाहक जगदम्बा प्रसाद, जिला कृषि अधिकारी के कार्यालय में कनि.सहा. किशोर अवस्थी, उपायुक्त स्वतःरोज़गार कार्यालय में डीएमएम अनुराग श्रीवास्तव, ए.ए. गोविन्द कुमार, सी.ओ. श्रीमती किसमतुन्निशॉ, डीडीओ कार्यालय में पत्र वाहक राम सागर, डी.आर.डी.ए. में सहा.अभि. चन्द्रभान सिंह, वरि.सहा. रामसूरत सिंह, कनि.लि. राजेन्द्र कुमार व पत्र वाहक राम सागर, उपायुक्त मनरेगा कार्यालय में लेखा सहायक मनरेगा सिराज अहमद व लोकपाल मनरेगा उमेश कुमार तिवारी के अतिरिक्त जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी तथा जिला कार्यक्रम अधिकारी अनुपस्थित पाये गये। कार्यालयों के निरीक्षण के दौरान डीएम ने कार्मिकों की उपस्थिति के साथ भवन की साफ-सफाई तथा अधिकारी कक्ष के शौचाालयों का भी देखा।

इसी प्रकार डीएम के निर्देश पर उपायुक्त मनरेगा के.डी. गोस्वामी ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी एवं जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालयों का आकस्मिक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान जिला समाज कल्याण अधिकारी के कार्यालय में प्रधान सहायक मसीउल्लाह अंसारी, डीआईओएस कार्यालय में वरिष्ठ सहायक समी अहमद अंसारी अनुपस्थित पाये गये। जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय के निरीक्षण के दौरान अभिलेखों का रख-रखाव संतोषजनक न पाये जाने पर निर्देश दिया गया कि कार्यालय अभिलेखों को सुव्यवस्थित रखें तथा कार्यालय में साफ-सफाई पर भी विशेष ध्यान दिया जाय। इसके अतिरिक्त उपायुक्त स्वतः रोज़गार संजय सिंह ने सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी कार्यालय का निरीक्षण किया। यहॉ पर वरिष्ठ सहायक संजीव कुमार त्रिपाठी अनुपस्थित पाये गये।

कार्यालयों के आकस्मिक निरीक्षण के दौरान अनुपस्थित पाये गये अधिकारियों एवं कर्मचारियों को 03 दिवस में स्पष्टीकरण प्रस्तुत किये जाने के निर्देश दिये गये हैं। डीएम ने कहा कि अनुपस्थित कार्मिकों की ओर से संतोषजनक जवाब न प्राप्त होने पर अग्रेत्तर कार्यवाही की जायेगी। निरीक्षण के दौरान मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में कार्यालयों में अधिकांश अधिकारियों एवं कर्मचारियों के उपस्थित पाये जाने तथा ज्यादातर व्यवस्थाएं दुरूस्त पाये जाने पर डीएम ने प्रसन्नता व्यक्त की है।

इस अवसर पर डीएम ने कहा कि मा. मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ व शासन की शीर्ष प्राथमिकता है कि सभी शासकीय कार्यालयों में कार्यालय समयावधि का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाय। उक्त के दृष्टिगत डीएम डॉ. चन्द्र द्वारा अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि समय-समय पर आकस्मिक निरीक्षण करें तथा ऐसे अधिकारियों, कर्मचारियों को जो समय से कार्यालय नहीं पहुँचते हैं या मध्यान्ह भोजन हेतु लम्बी अवधि के लिए कार्यालय से बाहर चल जाते है, उनके विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाय।