मंडल में बिना फिटनेस के दौड़ रही 1089 स्कूल बसें

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

बस्ती : मंडल के बस्ती, सिद्धार्थनगर और संतकबीरनगर में 1089 स्कूल बसें बिना फिटनेश प्रमाण पत्र के दौड़ रही हैं। मंडलीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में आयुक्त गोविंद राजू एनएस के सामने यह तथ्य सामने आया तो परिवहन निगम को कड़ी फटकार लगाई और तीनों जिलों के एआरटीओ को पंद्रह दिनों में सभी स्कूल बसों की फिटनेस की जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। आयुक्त सभागार में हुई बैठक में आयुक्त ने सड़क हादसों में कमी और यातायात नियमों की अवहेलना रोकने के लिए नेशनल हाईवे पर एनएचएआई को ऑटोमेटिक चालान सिस्टम लगाने का भी निर्देश दिया। 

मंडलीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक के दौरान आयुक्त ने कहा कि सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए व्यापक रणनीति बनाकर प्रभावी कार्रवाई करने जरूरत है। मंडल के प्रत्येक जनपद में रोड सेफ्टी एक्शन प्लान तैयार कर ब्लैक स्पॉट में सुधार, सड़क सुरक्षा संबंधी जागरूकता कार्यक्रम तथा घायल व्यक्ति को गोल्डेन ऑवर में चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने की दिशा में भी गंभीरता से प्रयास करने को कहा। कहा कि सड़क दुर्घटनाओं में 10 प्रतिशत की कमी लाने के लिए सभी आवश्यक उपाय किए जाएं।

 वहीं, आरटीओ कार्यालय की ओर से प्रस्तुत आंकड़ों में बताया गया है कि बस्ती जनपद में सड़क दुर्घटनाओं में 29.6 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। दुर्घटनाओं में मृतक 5.3 प्रतिशत तथा घायल 118.2 प्रतिशत बढ़े हैं। जबकि, सिद्धार्थनगर एवं संतकबीरनगर में इन तीनों में कमी आई है। आयुक्त ने स्कूली वाहनों की फिटनेस न कराए जाने पर गहरा असंतोष व्यक्त किया। गाजियाबाद में घटी छात्र के साथ दुर्घटना के लगभग दो महीने बाद भी जिले में केवल 15 वाहनों का चालान किया गया है। उन्होंने पाया कि बस्ती में कुल 852 स्कूली वाहन हैं, जिसमें से 489 का फिटनेस नहीं हो पाया है।

 इसी प्रकार सिद्धार्थनगर में 530 में 271 तथा संतकबीरनगर में 542 में 329 स्कूली वाहनों की फिटनेस जांच नहीं की गई है। वहीं, बस्ती में 580, सिद्धार्थनगर में 149 तथा संतकबीरनगर में 429 वाहन चालकों का चरित्र सत्यापन भी नहीं कराया गया है। बस्ती में 45 तथा संतकबीरनगर में 164 वाहन चालकों के ड्राइविंग लाइसेंस का सत्यापन तक नहीं कराया गया है। बैठक का संचालन एआरटीओ रविकांत शुक्ला ने किया। इस मौके पर आरटीओ सगीर अहमद अंसारी, संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य डॉ.आरके तिवारी, संयुक्त निदेशक शिक्षा मनोज कुमार द्विवेदी, पुलिस क्षेत्राधिकारी आलोक प्रसाद, यातायात निरीक्षक कामेश्वर सिंह, प्रबंधक राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण श्याम अवतार शर्मा, विपिन बिहारी, एआरटीओ अरुण प्रकाश चौबे, ईओ नगर पालिका अखिलेश त्रिपाठी आदि मौजूद रहे।