IPL 2022: मैच में तीसरी बार यह रिकॉर्ड बनाने वाले पहले बल्लेबाज बने माही

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

आईपीएल 2022 में गुरुवार को चेन्नई सुपर किंग्स ने जबरदस्त खेल का प्रदर्शन करते हुए मुंबई इंडियंस को तीन विकेट से हरा दिया। इस मैच में महेंद्र सिंह धोनी ने तूफानी पारी खेलते हुए 13 गेंदों पर 28* रन बनाए। उन्होंने 20वें ओवर की आखिरी गेंद पर चौका लगाकर मैच जिताया। इस पारी से फैन्स को आईपीएल में एकबार फिर आखिरी ओवर में चौके-छक्के लगाकर मैच जिताने वाले धोनी की झलक दिखी, जो पिछले कुछ सीजन में देखने को नहीं मिली थी। 

यह तीसरी बार है जब धोनी ने आखिरी (20वें) ओवर में 15 प्लस रन बनाकर मैच जिताया है। इस मैच से पहले भी वह दो बार ऐसा कर चुके हैं। आईपीएल 2010 का 54वां मैच चेन्नई सुपर किंग्स और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच खेला गया था। पहले बल्लेबाजी करते हुए पंजाब ने 20 ओवर में तीन विकेट गंवाकर 192 रन बनाए। जवाब में चेन्नई की टीम को आखिरी दो ओवर में 29 रन बनाने थे। 

19वें ओवर में धोनी और एल्बी मोर्कल ने मिलकर 13 रन बटोरे। धोनी ने रस्टी थेरॉन के ओवर में दो चौके भी लगाए। इसके बाद आखिरी ओवर में चेन्नई को 16 रन बनाने थे। स्ट्राइक पर धोनी थे, जबकि गेंदबाजी करने इरफान पठान आए। इस ओवर में धोनी ने चार गेंदों पर ही चेन्नई को मैच जिता दिया। पहली गेंद पर धोनी ने चौका लगाया। दूसरी गेंद पर उन्होंने दो रन बनाए। वहीं, तीसरी और चौथी गेंद पर धोनी ने लगातार दो छक्का लगाकर चेन्नई को मैच जिता दिया। चेन्नई ने यह मैच छह विकेट से जीता था। 

दूसरी बार धोनी ने ऐसा राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स से खेलते हुए किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ ही किया था। 2016 में चेन्नई और राजस्थान की टीम को दो साल के लिए बैन किया गया था। तब धोनी पुणे से खेल रहे थे। पहले बल्लेबाजी करते हुए पंजाब ने 20 ओवर में सात विकेट गंवाकर 172 रन बनाए। पुणे को आखिरी ओवर में 23 रन की जरूरत थी और स्ट्राइक पर धोनी और नॉन स्ट्राइकर एंड पर रविचंद्रन अश्विन थे।

पंजाब की ओर से अक्षर पटेल गेंदबाजी के लिए आए। 20वें ओवर की पहली गेंद पर कोई रन नहीं बना। दूसरी गेंद वाइड रही। इसके बाद उन्होंने दोबरा दूसरी बॉल डालनी पड़ी। इस बॉल पर धोनी ने छक्का लगाया। तीसरी गेंद पर कोई रन नहीं बना। चौथी गेंद पर धोनी ने चौका लगाया। पांचवीं गेंद पर धोनी ने छक्का लगाया। आखिरी गेंद पर पुणे को जीत के लिए छह रन चाहिए थे। अक्षर की इस गेंद पर धोनी ने मिडविकेट के ऊपर से छक्का लगाकर पुणे को मैच जिताया। धोनी इस मैच में 32 गेंदों पर 64 रन बनाकर नाबाद रहे। 

अब तीसरी बार धोनी ने आखिरी ओवर में 15 से ज्यादा रन बनाकर अपनी टीम को मैच जिताया। कोई भी अन्य बल्लेबाज अब तक आईपीएल में ऐसा नहीं कर सका है। चेन्नई ने यह मैच आखिरी गेंद पर जीता। इसी के साथ उन्होंने एक दुर्लभ रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया। चेन्नई के नाम आईपीएल में अब सबसे ज्यादा बार आखिरी गेंद पर मैच जीतने का रिकॉर्ड है। चेन्नई ने आठ बार ऐसा किया है। दूसरे नंबर पर छह जीत के साथ मुंबई है। 

इसके साथ ही मुंबई इंडियंस ने भी एक शर्मनाक रिकॉर्ड अपने नाम किया। मुंबई आईपीएल के किसी एक सीजन में लगातार शुरुआत सात मैच हारने वाली पहली टीम बन गई है। इससे पहले 2013 में दिल्ली और 2019 में बैंगलोर ने शुरुआती लगातार छह मैच गंवाए थे। वहीं, यह 11वीं बार है जब कोई टीम आईपीएल में लगातार सात मैच हारी है, लेकिन यह पहली बार है जब कोई चैंपियन बन चुकी टीम ने इस तरह का शर्मनाक रिकॉर्ड बनाया हो।