लगातार झड़ रही Eyebrow को ना करें नजरअंदाज

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क   

आंखों को खूबसूरत दिखाने में घनी आइब्रो का अहम रोल होता है। पतली और हल्की आइब्रो के कारण चेहरा डल और खराब दिखता है। कुछ लोगों की आइब्रो नेचुरल हल्की होती है लेकिन लोगों की हेयरफॉल के कारण आइब्रो झड़ने लगती है। आईब्रो के बाल झड़ना इंफेक्शन, स्किन प्रॉब्लम, हार्मोनल परिवर्तन के अलावा किसी बीमारी का संकेत भी हो सकता है और आज हम आपको उन्हीं के बारे में बताएंगे।

थायराइड रोग

थायराइड गले में मौजूद तितली आकार का एक ग्लैंड होता है जो शरीर में हार्मोन्स को कंट्रोल करता है। इसमें गड़बड़ी के कारण ना सिर्फ वजन बढ़ना या कम होना जैसी समस्याएं होने लगती है बल्कि यह आइब्रो के झड़ने का कारण भी बन सकता है।

एलोपेशिया एरियाटा

'एलोपेसिया एरीटा' एक ऑटोइम्यून डिसीज है, जिसमें जिसमें इम्यून सिस्टम बालों के रोम पर हमला करने लगता है। इसकी वजह से आइब्रो के बालों पर भी असर पड़ता है और वो झड़ने लगते हैं।

स्किन से जुड़ी परेशानियां

स्किन से जुड़ी परेशानियां जैसे सोरायसिस, दाद, कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस, एक्जिमा, सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस के कारण भी आइब्रो के बाल कम होने लगते हैं।

न्यूट्रिशन की कमी के कारण

शरीर में विटामिन ए या जिंक, विटामिन बी, विटामिन सी, आयरन, ओमेगा -3 फैटी एसिड जैसे  कुछ खास 

 न्यूट्रिएंट्स की कमी के कारण भी आइब्रो के बाल झड़ सकते हैं।

कैसे रोकें आईब्रो के झड़ते बाल?

• रोजाना कैस्टर ऑयल से आइब्रो के बालों की हल्के हाथों से मालिश करें और रातभर के लिए छोड़ दें।

• सोने से पहले अपने आईब्रो में ऑलिव ऑयल लगाएं।

• आईब्रो में प्याज का रस लगाने से इंफेक्शन कम होगा और आईब्रो की ग्रोथ भी बढ़ेगी।

• भौंहों को जितना हो सके पल्किंग से बचाएं। 

•  एलोवेरा जेल लगाने से भी भौंहों का झड़ना कम होगा।

• शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए प्रोटीन, जिंक, आयरन, ओमेगा -3 फैटी एसिड और विटामिन ए, ई से भरपूर फूड्स को अपनी डाइट में शामिल करें।

• सही स्किन केयर रूटीन फॉलो करें और खुद को जितना हो सके हाइड्रेटेड रखें।