Chaitra Navratri 2022: मां दुर्गा को नहीं चढ़ानी चाहिए ये चीजे, वरना नाराज हो जाएंगी माता रानी

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

नवरात्रि को शुभ और सबसे महत्वपूर्ण हिंदू त्योहारों में से एक माना जाता है, जिसे बहुत उत्साह के साथ मनाया जाता है। इस साल नवरात्रि 2 अप्रैल से शुरू हो रही है, उसी दिन से मुसलमान रमजान के अपने पवित्र महीने की शुरुआत करेंगे। नवरात्रि पूरे भारत में हिंदुओं के बीच मनाया जाने वाला एक प्रमुख त्योहार है और इसके साथ बहुत सारे रीति-रिवाज और रीति-रिवाज जुड़े हैं। इस दौरान लोग देवी को खुश करने के लिए उपवास रखते हैं और उन्हें अलग-अलग भोग बनाकर भी अर्पित करते हैं। मगर, कुछ ऐसी चीजें भी हैं जो मां दुर्गा को नहीं चढ़ानी चाहिए। चलिए आपको बताते हैं कि नवरात्रि के दौरान देवी दुर्गा और उनके अवतारों को क्या चढ़ाने से बचना चाहिए...

ना चढ़ाएं ये फूल

देवी दुर्गा को कुछ फूल जैसे दूब, मदार, हरसिंगार, बेल और तगर चढ़ाने से बचें। इसके अलावा देवी को चंपा और कमल के अलावा किसी भी फूल की कली नहीं चढ़ानी चाहिए।

अखंड ज्योति जलाई है तो...

अगर आप नवरात्रि के दौरान अखंड ज्योति जलाते हैं तो ध्यान रखें कि यह हर समय जलती रहे। साथ ही इस दौरान घर में अंधेरा ना होने दें और ना ही घर को बंद करें।

भोग में ना हो लहसुन-प्याज

आप जिस भोजन में देवी दुर्गा को भोग लगा रहे हैं उसमें लहसुन और प्याज का प्रयोग न करें। देवी को घर में बनी नैवेद्यम या दूध की मिठाई का भोग लगाएं।

टूटा हुआ नारियल

ध्यान रखें कि कलश स्थापना के लिए टूटा हुआ नारियल इस्तेमाल ना करें। पूजा के लिए जट्टा यानि बालों वाला नारियल ही इस्तेमाल करें।

टूटा हुआ लौंग

माता को हमेशा फूल वाली लौंग की चढ़ाए। टूटी हुई लौंग को अशुभ माना जाता है। मान्यता है कि इससे पूजा का फल नहीं मिलता।

अक्षत

अक्षत यानि चावल को देवी-देवताओं को अर्पित करना शुभ माना जाता है लेकिन कभी भी मां दुर्गा को टूटा हुआ चावल अर्पित ना करें। इससे मां नाराज हो सकती है।