सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में चार हजार रूपए लेकर महिला का किया गया गर्भपात

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क  

चित्रकूट एक तरफ देश की मोदी - योगी सरकार बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जैसे अभियान चलाते हुए अवैध तरीके से गर्भपात पर कड़ाई से कार्यवाही के आदेश निर्देश दे रखे हैं। वही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहाड़ी में अवैध तरीके से प्रसव केंद्र के लेबर रूम में 25 मार्च को महिला का ढाई महीने का गर्भपात समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहाड़ी में एएनएम स्टाफ नर्स ने किया। 

वही ब्लडिंग एवं दर्द होने पर महिला ने दोबारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में आकर डॉक्टरों को समस्या बताई तथा इलाज के नाम पर ₹4000 लिए जाने की बात कही वहीं गर्भपात की बात सुनते ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में हड़कंप मच गया। प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर उदय प्रताप सिंह ने पीड़िता महिला के खतरे को देखते हुए जिला चिकित्सालय इलाज हेतु रेफर कराया। तथा जिला अस्पताल महिला का इलाज किया गया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ उदय प्रताप सिंह ने अवैध तरीके से गैर कानूनी गर्भपात की शिकायत पर एएनएम एवं स्टाफ नर्स को डांट फटकार लगाते हुए कार्यवाही की बात कही। 

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहाड़ी में बीते कई वर्षों से अवैध तरीके से गर्भपात कराने का कार्य हो रहा था। वही उप केंद्र एवं अन्य स्थानों मे अवैध तरीके से मोटी रकम लेकर गर्भपात कराने का धंधा काफी दिनों से चल रहा था। इस संबंध में प्रभारी चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि संबंधित दोषियों से स्पष्टीकरण लिया जा रहा है। अब देखना है कि अवैध तरीके से गैरकानूनी गर्भपात कराने वाली एएनएम एवं स्टाफ नर्स के विरुद्ध शासन प्रशासन क्या कार्यवाही करता है। सूत्रों ने अपने तरीके से बताया कि इलाज के नाम पर गैरकानूनी काम को अंजाम तक पहुंचाने वाले एएनएम एवं स्टाफ नर्स ने पीड़ित महिला को दबाव बनाने का कार्य जारी है।