ये किस चित्रकार का है चित्र

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क  

कल कल करती कल्लोलिनी,

ऊँचे मनोरम शैल पवित्र,

अद्भुत सौंदर्य समाहित,

ये किस चित्रकार का है चित्र?

नीली,पीली,लाल,गुलाबी,

खिलती कलियां प्यारी-प्यारी,

रँग बिरंगी पँखों वाली,

तितलियां घूमें क्यारी क्यारी।

निज करों से गढ़कर किसने 

रची ये रचना विचित्र?

ये किस चित्रकार का है चित्र...

इंद्रधनुष की छटा निराली,

नक्षत्रमंडल तारों की सवारी,

रक्तिम सूरज है कभी,

कभी यामिनी सुनहरी प्यारी।

किस तूलिका ने रचा यह

मनभावन परिदृश्य?

ये किस चित्रकार का है चित्र...

छोटी छोटी पगडंडियाँ, 

कच्चे पक्के मकान कहीं,

समतल वृहत सड़क,

भवन आलीशान कहीं।

एक पटल पर किसने

किया इन्हें एकत्रित?

ये किस चित्रकार का है चित्र...

                 रीमा सिन्हा (लखनऊ)