इन लोगों की कभी भी न करें मदद, आपको झेलनी पड़ सकती है मुश्किलें

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में जीवन से जुड़े तमाम पहलुओं का जिक्र किया है। चाणक्य ने मानव जीवन को प्रभावित करने वाले विषयों को बहुत ही गहराई से अध्ययन किया था। चाणक्य को आज भी एक महान शिक्षाविद, अर्थशास्त्री व कूटनीतिज्ञ माना जाता है। कहते हैं कि आचार्य चाणक्य की नीतियों का पालन करने वाले व्यक्ति को जीवन में कम असफलता का सामना करना पड़ता है। यही कारण है कि चाणक्य नीतियां आज भी प्रासंगिक हैं। आप भी जानें जीवन में किन लोगों की मदद नहीं करनी चाहिए-

मूर्ख की न करें मदद- आचार्य चाणक्य के अनुसार, मूर्ख इंसान की मदद नहीं करनी चाहिए। मूर्ख व्यक्ति को कभी ज्ञान की बातें नहीं बतानी चाहिए। ऐसे लोगों को ज्ञान देना भैंस के आगे बीन बजाने के समान है। हम मूर्ख व्यक्ति को ज्ञान देकर उसकी भलाई करने के बारे में सोचते हैं, लेकिन मूर्ख व्यक्ति इस बात को नहीं समझेगा। ये लोग व्यर्थ के तर्क-वितर्क करते हैं।

दुष्ट महिला से रहें दूर- चाणक्य नीति के अनुसार, दुष्ट महिला से हमेशा दूरी बनाकर रखनी चाहिए। कहते हैं कि अगर कीचड़ में पत्थर मारेंगे तो छीटे खुद पर आएंगे। उसी तरह से दुष्ट महिला आपकी छवि को खराब कर सकती है।

बिना वजह दुखी रहने वाला- चाणक्य कहते हैं कि जो लोग स्वयं दुखी रहते हैं, उनकी मदद भगवान भी नहीं कर सकता है। ऐसे लोग दूसरों की तरक्की व खुशहाली से जलते हैं और कोसते हैं। अगर आप ऐसे लोगों की मदद करना चाहेंगे, तो आपके हाथों में निराशा आएगी। इन लोगों की भलाई करने से दुख मिलता है, इसलिए ऐसे लोगों से दूरी बनाकर रखनी चाहिए।