नीट परीक्षा में सॉल्वर गिरोह का आरोपी युवक पुलिस के हत्थे चढ़ा, वाराणसी में गिरफ्तार

वाराणसी : राष्ट्रीय पात्रता एवं प्रवेश परीक्षा (नीट) में परीक्षार्थियों के स्थान पर बैठकर परीक्षा पत्र हल करने वाले (सॉल्वर) गिरोह में शामिल एक अन्य आरोपी को मंगलवार को यहां गिरफ्तार कर लिया गया। सारनाथ पुलिस और निगरानी दल ने सिंहपुर बाईपास से आरोपी डॉ. अफरोज अहमद को गिरफ्तार किया और उसके पास से नीट परीक्षा के अभ्यर्थी के मूल दस्तावेज बरामद किए। वाराणसी के पुलिस आयुक्त ए सतीश गणेश ने बताया कि आरोपी डॉ. अहमद बलरामपुर के थाना तुलसीपुर का मूल निवासी है और लखनऊ के दाउदनगर और मोहनलालगंज के स्वास्थ्य केंद्र में बतौर चिकित्सा अधिकारी कार्यरत है।

गणेश के अनुसार, पूछताछ में आरोपी ने स्वीकार किया कि वह 2018-19 में लखनऊ पहुंचने पर डॉक्टर ओसामा और नीलेश उर्फ पी. के. के सम्पर्क में आया था और उसने 2021 की नीट परीक्षा में चार परीक्षार्थियों के स्थान पर किसी अन्य को बैठाकर परीक्षा पत्र हल कराने का काम किया था।

पुलिस आयुक्त के अनुसार, आरोपी ने बताया कि गिरोह के अन्य सदस्यों के पकड़े जाने पर वह नेपाल भाग गया था और बाद में वह हिमाचल प्रदेश, दिल्ली और अमेठी में स्थान बदल बदलकर रहा। आरोपी ने बताया कि वह उच्च न्यायालय से जमानत मंजूर कराने के प्रयास कर रहा था। गणेश ने बताया कि आरोपी के विरुद्ध दर्ज अन्य मुकदमों के बारे में जानकारी एकत्र की जा रही है। पुलिस ने आरोपी चिकित्सक को एक अदालत में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।