वात्सल्य ग्राम में शुरू हुई गिरिशानंद सरस्वती जी महाराज की श्रीमद् भागवत महापुराण कथा

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क  

मथुरा/वृंदावन। मथुरा मार्ग स्थित वात्सल्य ग्राम में रविवार से श्रीमद् भागवत महापुराण का शुभारंभ परिसर स्थित कैलाश पति महादेव मंदिर से कलश शोभायात्रा निकालकर हुआ।कलश यात्रा में मातृशक्ति अपने सिर पर कलश रखकर चल रहीं थी। कलश यात्रा हरि नाम संकीर्तन के बीच वात्सल्य ग्राम स्थित सभागार में पहुंची।साध्वी ऋतंभरा दीदी मां ने वैदिक रीति रिवाज और मंत्रो चरण के बीच व्यासपीठ का पूजन-अर्चन किया।दीदी मां ने कहा की वात्सल्य ग्राम की धरा पर महाराज जी के श्री मुख से 7 दिन कथा श्रवण करने का सौभाग्य ठाकुर जी की कृपा से मिला है। मेरा संकल्प भी पूरा हुआ। इस 7 दिन के समय को व्यर्थ ना जाने दें यह 7 दिन आपके जीवन में भक्ति देंगे।व्यास पीठाधीश्वर स्वामी श्री गिरीशानंद सरस्वती जी महाराज ने भक्तों को कथा का रसपान कराते हुए कहा कि श्री राधा रानी श्री कृष्ण की अलह्राद सकती हैं।श्री राधा रानी के कृपा के बिना श्री कृष्ण जी को नहीं पाया जा सकता।वृंदावन धाम की महिमा अपार है ओर यहां हर समय श्री राधे राधे की गूंज सुनाई देती है। कथा का आयोजन बंसल परिवार मुंबई द्वारा किया जा रहा है।इस अवसर पर स्वामी श्री मुक्तानंद पुरी महाराज, आर ' एन ' द्विवेदी राजू भैया प्रवक्ता उमा शक्ति पीठ श्री धाम वृंदावन, यशवंत कुमार मिश्रा जिला जज बुलंदशहर, राजेंद्र खेतान दिल्ली, कथा आयोजक विष्णु बंसल, सत्यप्रकाश बंसल व शांति स्वरूप बंसल एवं बंसल परिवार ने आए हुए सभी अतिथियों का स्वागत किया।