NZ vs BAN: बांग्लादेशी गेंदबाजों पर कहर बनकर टूटे टॉम लाथम, दूसरे दिन ही अपना दोहरा शतक जड़कर रचा इतिहास

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

न्यूजीलैंड के कप्तान टॉम लाथम दूसरे टेस्ट में बांग्लादेशी गेंदबाजों पर कहर बनकर टूटे हैं। लाथम ने मैच के दूसरे दिन ही अपना दोहरा शतक जड़कर इतिहास रच दिया। नियमित कप्तान केन विलियमसन की गैरमौजूदगी में इस सीरीज में कीवी टीम की कप्तानी कर रहे लाथम का टेस्ट करियर में यह दूसरा शतक है। बाएं हाथ के बल्लेबाज लाथम ने 305 गेंदों पर अपना दोहरा शतक पूरा किया। वह बतौर ओपनर न्यूजीलैंड के लिए सबसे ज्यादा शतक बनाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। सलामी बल्लेबाज ने अपनी पारी के दौरान 373 गेंदों का सामना किया, जिसमें उन्होंने 34 चौके और दो छक्के की मदद से 252 रनों की यादगार पारी खेली। 

क्राइस्टचर्च के हेगली ओवल मैदान पर किसी भी बल्लेबाज द्वारा बनाया गया अबतक का यह सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर है। बांग्लादेश के खिलाफ बनाया गया यह स्कोर लाथम के करियर का दूसरा दोहरा शतक है। उन्होंने अपना पहला दोहरा शतक 2018 में वेलिंग्टन में श्रीलंका के खिलाफ बनाया था। लाथम के करियर का भी यह दूसरा सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत स्कोर भी है। टेस्ट में उनका सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत स्कोर 264 रन का है, जोकि उन्होंने 2018 में वेलिंग्टन में श्रीलंका के खिलाफ बनाया था। लाथम के शानदार दोहरे शतक की मदद से न्यूजीलैंड ने अपनी पहली पारी 6 विकेट पर 521 रन बनाकर घोषित कर दी। इसके जवाब में बांग्लादेश ने चायकाल तक 27 रन तक ही अपने 4 विकेट गंवा दिए हैं। 

इसके साथ ही लाथम टेस्ट क्रिकेट में न्यूजीलैंड के लिए सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर बनाने वाले 9वें बल्लेबाज बन गए हैं। उन्होंने इस मामले में नियमित कप्तान केन विलियमसन को पीछे छोड़ दिया है, जिन्होंने 2020 में हेमिल्टन में वेस्टइंडीज के खिलाफ 251 रन बनाए थे। टेस्ट क्रिकेट में न्यूजीलैंड के लिए सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर बनाने का रिकॉर्ड ब्रैंडन मैकुलम के नाम हैं, जिन्होंने 2014 में वेलिंग्टन में भारत के खिलाफ 302 रन बनाए थे। उनके बाद मार्टिन क्रो (299), रॉस टेलर (290), स्टीफन फ्लेमिंग (नाबाद 274), बी यंग (नाबाद 276), ग्लेन टर्नर (259) है।

कप्तान लाथम के अलावा डेवॉन कॉनवे ने भी शानदार शतक जड़ा। उन्होंने 166 गेंदों पर 12 चौके और एक छक्के की मदद से 109 रनों की शतकीय पारी खेली। लाथम ने कॉनवे के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 215 रन की साझेदारी की। कॉनवे अपने टेस्ट करियर की पहली पांच पारियों में पांच 50+ स्कोर बनाने वाले पहले बल्लेबाज भी बन गए।