भारत माता की आराधना का संदेश दिया-स्वामी विवेकानंद

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

ग़ोण्डा.।.स्वामी विवेकानंद की जयंती के अवसर पर अखिल भारतीय जनसंघ के तत्त्वावधान में ऑनलाइन कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें देश के प्रमुख कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जनसंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष आचार्य भारतभूषण पाण्डेय ने कहा कि भारतमाता की चैतन्य मूर्ति का दर्शन स्वामी विवेकानंद जी ने किया था। उन्होंने भारतीय मनीषा और अद्वैत वेदांत के प्रकाश से न केवल विश्व को चमत्कृत कर दिया था बल्कि आत्मा की अमरता, स्वतंत्रता और समानता के विज्ञान से देश की आजादी का मार्ग भी प्रशस्त कर दिया था। जनसंघ अध्यक्ष ने कहा कि स्वामी जी के आदर्शों पर भारतमाता की उपासना करने वाला दल एकमात्र जनसंघ ही है। उन्होंने कहा कि राजनीति देश की एकता-अखण्डता, सेवा और सुरक्षा के लिए होती है न कि सत्ता-सुविधा-स्वार्थलिप्सा के लिए। प्रदेशों में चुनावों की घोषणा के बाद मची भगदड़ सिद्धांतविहीन सत्ता के भूखे भेड़ियों की दौड़ है। राजनीति की इस विकृति को दूर कर तथा इसे राष्ट्र देवता की पूजा बना कर स्वामी विवेकानंद जी के सपनों के भारत को प्रकट किया जा सकता है। आचार्य पाण्डेय ने कहा कि युवा शक्ति ब्रह्मचर्य, स्वाध्याय, स्वावलम्बन, सेवा और समर्पण के द्वारा देश को वैभव के शिखर पर और विश्व को शांति के मार्ग पर ले जा सकते हैं। नई पीढ़ी स्वामी विवेकानंद के जीवन-दर्शन से परिचित और प्रेरित हो इसकी पूरी व्यवस्था करनी है।