भिवानी खनन हादसा: डाडम में बचाव कार्य जारी

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

भिवानी  : भिवानी के डाडम में पहाड़ खिसकने की घटना के बाद से एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और आर्मी की टीमों द्वारा बचाव कार्य लगातार जारी है। बचाव कार्य के दौरान मलबा हटाकर देर रात दो बजे एक और शव निकाला गया। मृतक की पहचान पंजाब के होशियारपुर जिले के दिनेश दत्त पुत्र केवल सिंह के रूप में हुई है।

अब मरने वालों की संख्या 4 हो गई है। बचाव दल द्वारा लगातार छोटे पत्थरों को हटाया जा रहा है और बड़े पत्थरों को काटने का प्रयास किया जा रहा है। कुछ पत्थर बहुत ज्यादा बड़े हैं जिनको हल्के ब्लास्ट कर तोड़ा जाएगा। उसके बाद ही मलबा हटाया जा पाना संभव होगा।

बचाव कार्य पर जिले के प्रशासनिक अधिकारी लगातार निगरानी रखे हुए हैं। उपायुक्त और पुलिस अधीक्षक लगातार हर मिनट की अपडेट ले रहे हैं। देर रात तक भी जिले के आला अधिकारी डाडम में ही तैनात रहे। उम्मीद जताई जा रही है कि आज देर रात तक मलबे को हटाने का काम पूरा कर लिया जाएगा। वहीं दूसरी ओर सीटू और अन्य मजदूर व श्रमिक संगठन मामले में उच्च स्तरीय जांच की मांग कर रहे हैं। इसके अलावा हादसे में मारे गए लोगों को मुआवजा देने और निशुल्क उपचार की सुविधा देने की मांग कर रहे हैं।

हरियाणा के डाडम क्षेत्र में हुए अवैध और अवैज्ञानिक खनन की पोल सेवानिवृत्त जस्टिस प्रीतम पाल कमेटी की अंतिम रिपोर्ट खोलने वाली है। कमेटी की ओर से जुटाई जा रही पहाड़ की सेटेलाइट इमेज में खनन ठेकेदार की पूरी कारगुजारी कैद है। जस्टिस प्रीतम पाल पूरे मामले पर अंतरिम रिपोर्ट एनजीटी को सौंप चुके हैं। इमेज मिलते ही अंतिम रिपोर्ट भी सौंप दी जाएगी। इसमें जिला प्रशासन की विरोधाभासी रिपोर्ट का भी भेद खुलेगा। जिला प्रशासन ने डाडम पहाड़ पर हुए अवैध व अवैज्ञानिक खनन को लेकर दो अलग-अलग रिपोर्ट सौंपी थी। दोनों आपस में मेल नहीं खाती थी, एक में बताया गया कि खनन गलत तरीके से हुआ है, जबकि दूसरी में कहा कि अवैध खनन के कोई साक्ष्य नहीं हैं।