चेहरे पर नहीं दिख रहा मास्क, संक्रमण पकड़ रहा रफ्तार : मुख्य चिकित्सा अधिकारी

                           

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

- लापरवाही ठीक नहीं, एहतियात है जरूरी 

- टीकाकरण कराने में सभी निभाएं जिम्मेदारी 

- पद संभालने के बाद सीएमओ की लोगों से अपील 

बांदा। दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी स्लोगन को आमजन जैसे अब भूल चुके हैं। स्थिति यह है कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना तो दूर चेहरे पर मास्क भी नहीं दिख रहा है। बाजार, स्टेशन और सार्वजनिक स्थानों पर गाइडलाइन का पालन नहीं हो रहा है। जबकि जनपद में कोरोना संक्रमण ने धीरे-धीरे बढ़ रहा है। सक्रिय मरीजों की संख्या 39 हो चुकी है। संक्रमण काल में टीकाकरण एहतियाती कदम है। लक्षित आबादी को अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए इसमें सक्रिय भूमिका दिखानी चाहिए। यह बातें नवागांतुक मुख्य चिकित्साधिकारी डा. अनिल कुमार श्रीवास्तव ने कहीं। 

उन्होंने कहा कि भीड़ वाले इलाकों में लोग बिना मास्क के दिख रहे हैं। इससे संक्रमण फैलाव का खतरा बना हुआ है। उन्होंने सभी से कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए टीकाकरण कराने की अपील की। उन्होंने बताया कि बुधवार को 2351 नमूने जांच को भेजे गए हैं। इनमें सात नए मरीज मिले हैं। जनपद अब एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 39 हो गई है। अब जनपद में 13 लाख से ज्यादा जांचें हो चुकी हैं। 15 से 18 वर्ष तक के 37513 बच्चों का टीकाकरण हो चुका है। 273 लोगों ने बूस्टर डोज लगवाई है। 18 प्लस के 11.8 लाख यानी 91 फीसद से ज्यादा लोग पहली डोज लगवा चुके हैं। जबकि 7.1 लाख यानी 54 फीसद से ज्यादा दूसरी डोज ले चुके हैं।