केपटाउन टेस्ट मैच में पीटरसन और तेंबा को आउट करके इतिहास रच सकती है टीम इंडिया

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

केपटाउन में खेला जा रहा तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का आखिरी मुकाबला इस समय रोमांचक मोड़ पर है। भारत और साउथ अफ्रीका के बीच आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के तहत ये सीरीज खेली जा रही है। इस सीरीज का पहला मुकाबला भारत और दूसरा मुकाबला साउथ अफ्रीका ने जीता था। वहीं, तीसरा मुकाबला कौन जीतेगा, ये आज पता चलेगा, क्योंकि इस मैच का आज चौथा दिन है और नतीजा निकलने की पूरी संभावना है। हालांकि, भारतीय टीम इस मैच को कैसे जीत सकती है और इतिहास रच सकती है, इस बारे में जान लीजिए। 

इस मुकाबले की बात करें तो भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी चुनी थी। हालांकि, टीम 223 रन पर ढेर हो गई। कप्तान विराट कोहली ने सबसे ज्यादा 79 रन बनाए, जबकि 43 रन चेतेश्वर पुजारा के बल्ले से निकले। वहीं, 27 रन रिषभ पंत ने बनाए। कगिसो रबाडा ने साउथ अफ्रीका के लिए चार विकेट झटके, जबकि तीन विकेट मार्को यानसेन के खाते में गए। हालांकि, अच्छी बात ये थी कि भारत ने साउथ अफ्रीका को 210 रन पर समेट दिया था और 13 रन की मामूली बढ़त हासिल की थी, जो सिर्फ मनोबल बढ़ा सकती थी। 

इस पारी में भारत के लिए 5 विकेट जसप्रीत बुमराह और 2-2 विकेट उमेश यादव और मोहम्मद शमी ने चटकाए। वहीं, इसके बाद जब भारत अपनी दूसरी पारी में उतरा तो रिषभ पंत को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज खास कमाल नहीं दिखा सका। पंत ने नाबाद 100 रन बनाए और विराट कोहली 29 रन बनाकर आउट हुए। इनके अलावा सभी बल्लेबाजों ने निराश किया और टीम 198 रन पर ढेर हो गई। इस तरह साउथ अफ्रीका को जीत के लिए 212 रन का लक्ष्य मिला। इसमें से 101 रन साउथ अफ्रीका ने दो विकेट खोकर बना लिए हैं।

अब बात करते हैं कि भारतीय टीम इस मुकाबले को जीतकर कैसे इतिहास रच सकती है। अगर भारतीय गेंदबाज आज यानी मैच के चौथे दिन शुक्रवार 14 जनवरी को जल्दी से 44 रन बनाकर खेल रहे कटान पीटरसन और फिर तेंबा बावुमा को आउट कर देते हैं तो फिर मैच भारत के लिए जीतना आसान हो जाएगा। अगर ऐसा नहीं होता है तो फिर भारतीय टीम ये सीरीज और मैच हार जाएगी, क्योंकि अब जीत के लिए मेजबानों को सिर्फ 111 रन बनाने हैं और हाथ में 8 विकेट हैं। इन दोनों बल्लेबाजों ने भारतीय गेंदबाजों को काफी परेशान किया है और टीम के लिए रन भी बनाए हैं। अगर भारत ये मैच जीतता है तो फिर पहली बार टीम इंडिया इस देश में टेस्ट सीरीज जीतने में सफल होगी।