प्यार ही प्यार

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क


चाहत है जज्बात है

प्यार है इकरार है।

यही प्यार है यही प्यार है 

सभी जानते हैं यही प्यार है।

यही प्यार है दोस्ती में 

यही प्यार है -

ममतामई छवि में।

यही प्यार है भाई-बहन में

यही प्यार है 

स्नेह मयी छवि में।

प्यार का तो रूप एक है 

यही प्यार है इंसानियत में।

यही प्यार है 

दिया और बाती में

यही प्यार है 

राधा और कृष्ण में।

यही प्यार है रूह का 

रूह से यही प्यार है 

आत्मा और परमात्मा से।

नाम चाहे जो भी हो 

प्यार तो बस प्यार है 

बसा है जो तेरे मेरे मन में।

प्यार तो एक नूर है 

मिला है जो इस जहां में।


वंदना यादव

चित्रकूट-उत्तर प्रदेश