कौन होगा मऊ के चारों सीटों पर जिताऊ प्रत्याशी?, गहन मंथन में जुटी भाजपा

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क  

मऊ जनपद के भारतीय जनता पार्टी का प्रादेशिक नेतृत्व से लेकर राष्ट्रीय नेतृत्व तक मऊ जनपद की 4 विधानसभा सीटों पर पैनी नजर बनाए हुए है। वे मऊ जनपद की सभी 4 विधानसभा सीटों पर कमल खिलाना चाहती है। मऊ जनपद के मऊ सदर, घोसी मधुबन व मुहम्मदाबाद गोहना सुरक्षित सीट पर भाजपा के प्रत्याशी बनने के को आतुर भारतीय जनता पार्टी के नेता गण अपनी उम्मीदवारी को लेकर चाहे जितने छोटे से बड़े दावें कर लें, लेकिन उनके दावों से इतर 2017 के विधानसभा में 3 सीटों पर विजयी भाजपा इस बार 2022 में हर हाल में जनपद की चारों विधानसभा सीटों पर कमल खिलाकर, 2017 में अपने एक सीट के नुकसान का भरपाई वर्तमान में मऊ सदर सीट पर विधायक बाहुबली मोख्तार अंसारी का किला ढहा कर हथियाना चाहती है।  इसलिए पार्टी भले ही चुनाव करीब होने को लेकर अपने प्रचार और जनता के बीच शासन की नीतियां बनाने के लिए रोज रैली और जनसभा कर रही है। लेकिन इधर इन्हीं रैलियों और जनसभाओं के बीच और इसके अलावा पार्टी के वरिष्ठ नेता मऊ जनपद की एक-एक विधानसभा सीट पर कौन उम्मीदवार जिताऊ और टिकाऊ होगा इस पर मंथन और चिंतन कर रहे हैं। इतना ही नहीं सूत्रों की माने तो भारतीय जनता पार्टी एक एक सीट पर एक-एक प्रत्याशी का मूल्यांकन कर रही है। दावेदारों के अलावा भी वह अन्य ऐसे प्रत्याशियों पर नजर लगाए हुए हैं जिसे उम्मीदवार बनाए जाने के बाद पार्टी मजबूत और जीत की स्थिति में खड़ी होती दिखाई दे सके। वैसे तो बात किया जाए तो चारों विधानसभा सीटों पर टिकट मांगने वालों की संख्या एक सैकड़ा से कम नहीं होगा। लेकिन उनमें से जो नेता छट कर सम्भावित उम्मीदवार की सूची में भाजपा उसके अलावा भी संभावना तलाश रही है। भाजपा नेतृत्व गहन मंथन और अध्ययन कर रहा है कि मऊ जिले में वह कौन चार उम्मीदवार उपयुक्त होगा जो 2022 के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के सिंबल पर सदन में पहुंच सरकार बनाने में भूमिका निभा सकता है। वैसे तो मऊ सदर विधानसभा सीट छोड़कर भारतीय जनता पार्टी 3 विधानसभा सीटों को 2017 में जीतने में कामयाब हुई थी और सदर विधानसभा सीट पर बाहुबली विधायक माफिया और सरकार के आंख की किरकिरी बने मोख्तार अंसारी का 5 बार से विधायक बनने का लगातार कब्जा है।  मोख्तार अंसारी पर एमपी एमएलए कोर्ट में विधायकी की सदस्यता पर तलवार भी लटक रहा, फिर भी अगर मोख्तार अयोग्य घोषित होते हैं तो पांच बार विधायक बनने का इतिहास और अपनी राजनीति की खेती को यूं हीं किसी और को आसानी से नहीं चरने देंगे। वैसे भारतीय जनता पार्टी किसी भी कीमत पर मऊ सदर के सीट पर अपना प्रत्याशी उतार कमल खिलाना चाहती है। ऐसे में भाजपा मऊ सदर सीट पर गहनता से विचार कर रही है। वह प्रत्याशी उतारने में ऐसा कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती की उससे कोई चूक हो जाए। ऐसे में 2022 में पुनः योगी सरकार के आने की टकटकी लगाएं भारतीय जनता पार्टी के नेता हर हाल में भारतीय जनता पार्टी के मऊ सदर, घोसी, मधुबन व मुहम्मदाबाद गोहना सुरक्षित सीट पर कमल खिलाना चाहते हैं। टिकट के लिए नेताओं का परिक्रमा जोरो से जारी है। लेकिन कहना अतिशयोक्ति नहीं होगा कि अभी तक जो टिकट के लिए परिक्रमा नहीं किया है उसे भी टिकट मिलने की कयास लगाई जा रही है। फिर इंतजार करना होगा कि भाजपा किसे उम्मीदवार बना रही है।