नव वर्ष पर नयी ऊर्जा के साथ नया संकल्प लें: नगरायुक्त

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

सहारनपुर। नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह का कहना है कि नव वर्ष मनाने की सार्थकता तभी है जब किसी रोते हुए आदमी के आंसू पौंछे जाए या किसी दुःखी व्यक्ति के दुःख को अपना दुख मानकर उसका निवारण करने का प्रयास किया जाए। नव वर्ष व्यक्ति को इस बात के लिए प्रेरित करता है कि वह नयी ऊर्जा के साथ नये संकल्प लेकर समाज व राष्ट्र हित में कार्य करें। 

नगरायुक्त नगर निगम में नववर्ष पर निगम के अधिकारियों व कर्मचारियों को शुभकामनाएं देते हुए संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि निगम का प्रयास रहा है कि महानगर के लोगों की बिजली, पानी, सीवर, सड़क आदि की समस्याओं का अधिक से अधिक निवारण करें। इसी को ध्यान में रखकर कंट्रोल रुम की स्थापना की गयी। उन्होंने नये वर्ष में सहारनपुर को स्वच्छता में नंबर वन लाने, सहारनपुर को कूड़ा मुक्त शहर बनाने और एक आदर्श महानगर बनाने का संकल्प लेते हुए सभी से इस उद्देश्य के लिए जुट जाने का आह्वान किया। इससे पूर्व अपर नगरायुक्त राजेश यादव, मुख्य अभियंता निर्माण कैलाश सिंह, मुख्य कर निर्धारण अधिकारी रवीश चैधरी, अधिशासी अभियंता निर्माण आलोक श्रीवास्तव, स्मार्ट सिटी के अधिशासी अभियंता अमनेंद्र गौतम व लेखाधिकारी राजीव कुशवाहा, कर अधीक्षक विनय शर्मा सहित नगर निगम और स्मार्ट सिटी के सभी अधिकारियों व कर्मचारियों ने नगरायुक्त को बुके भेंट कर नव वर्ष व उनके जन्मदिन की बधाई और शुभकामनाएं दी।

नगरायुक्त ने अपने कथन के अनुरुप दो युवकों नीरज कुमार व अर्जुन कुमार को सफाई कर्मचारी के रुप में नियुक्ति पत्र सौंपे। दोनों के पिता की निगम में सेवाकाल के दौरान मृत्यु हो गयी थी। नियुक्त किये गए नीरज की माता का पहले स्वर्गवास हो चुका था और 2015 में उसके पिता का भी निधन हो गया था। नीरज सहित तीन भाई बहनों का लालन पालन उनके रिश्तेदारों ने किया। नगरायुक्त ने कहा कि मृतक आश्रितों के रुप में नीरज व अर्जुन की नियुक्ति से निश्चित ही इनके परिवार की समस्याओं का समाधान होगा।