समय पर सी० पी०आर देकर मरीज़ की बचा सकते है ज़िन्दगी : डॉ0 सुजीत सिंह

 युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

मऊ जनपद के शारदा नारायन हास्पिटल एव सोसाइटी फॉर इमरजेंसी मेडिसिन इंडिया की तरफ से शारदा नारायन हॉस्पिटल परिसर में एम्बुलेन्स चालको के लिए सी० पी०आर प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्रशिक्षण के दौरान सोसाइटी फॉर इमरजेंसी मेडिसिन इंडिया यू0पी0 चेप्टर के अध्यक्ष डॉ सुजीत सिंह ने बताया कठिन परिस्थितियो में घायल या दुर्घटना के शिकार लोगो के प्राथमिक उपचार में उन्हें क्या करना चाहिए ,डा0 सुजीत सिंह ने बताया सर्वप्रथम दुर्घटना स्थल पर हमेशा एम्बुलेन्स पहुचती हे। इसलिए सबसे ज्यादा प्राथमिक उपचार व सी0पी0आर0 की जानकारी इन्हे ही होनी चाहिए क्योकि दुर्घटना में घायल मरीज तो हास्पिटल बाद में पहुचता हैं। अगर घटना स्थल पर पहले प्रशिक्षित एम्बुलेन्स चालक पहुच जाते है तो कुछ हद तक मृत्यु दर में कमी लाई जा सकती है तथा वहा की स्थितियों पर भी काबू पाया जा सकता है। आगे डॉ सिंह ने डमी के माध्यम से सही तरीका बताया की कैसे हमें सीपीआर करना होता है जिसमे मरीज़ की छाती पे बीचोबीच 5-7 सेमि के दबाव से 100 - 120  प्रति मिनट की दर से दबाये। इस अवसर पर शारदा नारायन हास्पिटल के डायरेक्टर व वरिष्ठ चिकित्सक डा0 संजय सिंह ने कहा कि शारदा नारायन हास्पिटल एम्बुलेन्स चालको के स्वस्थ्य परीक्षण के कार्यक्रम का आयोजन करेगा क्योकि एम्बुलेन्स चालको का भी सेहत सही होना अनिवार्य है। डा0 संजय सिंह ने कोविड काल में एम्बुलेन्स चालको की कार्य कि भूरी भूरी प्रशंसा किये। इस अवसर पर डा0 राहुल कुमार,डा0 रूपेश सिंह,डा0 सतिश सिंह,गौरव अदि लोग उपस्थ्ति रहे।