IS 191 के सरगना मुख्तार अंसारी गैंग के सहयोगी गैंग के लीडर व शातिर हिस्ट्रीशीटर अपराधी शाहजमाँ उर्फ नैय्यर का मकान व 02 भूखंड गैंगस्टर एक्ट के तहत कुर्क

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

आजमगढ़। जनपद आजमगढ़ के थाना बरदह के हिस्ट्रीशीटर अपराधी (हिस्ट्रीशीट नं0- 67A) शाहजमाँ उर्फ नैय्यर जो IS 191 मुख्तार अंसारी गैंग का निकट सहयोगी है एवं वर्तमान में जेल में निरुद्ध है । अभियुक्त शाहजमाँ उर्फ नैय्यर वर्ष 1990 से अपराध जगत में सक्रिय है । अभियुक्त एक कुख्यात अपराधी है जिसका जनपद स्तर पर पंजीकृत सक्रिय गैंग डी-72 है । अपने गैंग के सदस्यो के साथ गठजोड़ कर जनपद आजमगढ व आस-पास के जनपदो में भी अपराध कारित करता रहता है । अभियुक्त के विरूद्ध जनपद के विभिन्न थानो में हत्या,हत्या का प्रयास,बलवा,मारपीट जैसे गम्भीर अपराध कारित करने के सम्बन्ध में लगभग दो दर्जन मुकदमें पंजीकृत है । अभियुक्त के विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट के अंतर्गत FIR-235/20 थाना बरदह जनपद आजमगढ दर्ज की गई थी जिसका विवेचना SHO मेहनाजपुर द्वारा की जा रही है ।

विवेचना के दौरान यह ज्ञात हुआ कि अपराध में संलिप्त होने के उपरान्त अभियुक्त द्वारा समाज में भय पैदा कर कीमती सम्पत्तियाँ अर्जीत की गई है । उक्त अपराधी द्वारा *ग्राम बेलउ तहसील मार्टीनगंज में एक भूखण्ड खतौनी खाता संख्या- 62 में अंकित गाटा सं0-952/0.471 हे0 व गाटा सं0- 692/0.542 हे0 कुल रकबा 1.013 हे0 में से ¼ हिस्सा रकबा 0.253 हे0, ग्राम मोहमदपुर फेटी तहसील मार्टीनगंज में एक भूखण्ड खतौनी खाता संख्या-132 के गाटा सं0- 372/0.239 हे0 में से 1/3 रकबा 0.079 हे0 तथा खतौनी खाता संख्या- 123 के गाटा सं0- 102/0.959 हे0 में से ½ हिस्सा रकबा 0.479 हे0 तथा  ग्राम मोहमदपुर फेटी में आबादी की जमीन में स्थित दो मंजीला मकान मय वाउण्ड्रीबाल जिनका कुल मार्केट मूल्य वर्तमान में लगभग 3 करोड़ रुपये है जो अपराध से अर्जित धन से बनाया गया है । इन सभी सम्पत्तियों को जिलाधिकारी आजमगढ़ को रिपोर्ट प्रेषित कर 14(1) गैंगस्टर एक्ट के अंतर्गत कुर्क कराया गया है । उल्लेखनीय है कि उक्त मकान को इस अपराधी द्वारा अपनी विभिन्न आपराधिक गतिविधियों के संचालन के साथ साथ अपने गैंग के सदस्यों एवं अन्य अपराधियों के लिये शरण देने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता रहा है ।