एड्स का बचाव है इलाज नहीं,इससे बचें-जिलाधिकारी

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

हमीरपुर। 1 दिसंबर को मनाए जाने वाले विश्व एड्स दिवस की तैयारियों के दृष्टिगत एक आवश्यक बैठक जिलाधिकारी डॉ चंद्र भूषण की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार कक्ष में संपन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि कि एचआईवी,एड्स खतरनाक रोग है इसका बचाव है किंतु इलाज नहीं है अतः इससे बचने के उपायों के बारे में लोगों को जागरूक किया जाए,इसके लिए वृहद स्तर पर प्रचार प्रसार किया जाए। उन्होंने बताया कि एड्स का रोग संक्रमित इंजेक्शन की सुई,संक्रमित ब्लड चढ़ाने एवं असुरक्षित यौन संबंधों से होता है। प्रत्येक बार नए इंजेक्शन का प्रयोग करने सही रक्त चढ़ाने तथा सुरक्षित यौन संबंधों एवं सतर्कता से इससे बचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि यह एक गंभीर रोग है जिसका कोई इलाज नहीं है। इसलिए लोगों को इसके फैलने एवं इससे बचने  के तरीकों के बारे में बताया जाए ताकि वह इससे बच सकें। ज्ञात हो कि जनपद में वर्तमान में एचआईवी एड्स के 3 रोगी है जिनपर नियमित तौर पर निगरानी रखी जा रही है। जिलाधिकारी ने कहा कि यह एक खतरनाक रोग है जो कि हमारी गलतियों और लापरवाही के कारण फैलता है। उन्होंने कहा कि इससे बचने के लिए पोस्टर,बैनर,होर्डिंग एवं प्रचार के अन्य माध्यमो से लोगों को इसके बारे में जागरूक किया जाए।उन्होंने कहा कि कल आयोजित होने वाले एड्स दिवस का वृहद स्तर पर आयोजन कर लोगों को इसके बारे में जागरूक किया जाए। इस मौके पर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0एके रावत,जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ महेश चंद्रा,डीपीआरओ राजेंद्र प्रकाश,पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी अभय कुमार सागर,लखन लाल जोशी एवं अन्य संबंधित मौजूद रहे।