भाषण में योगी ने मुख्यमंत्री पद की गरिमा का रखा मान पर रामपुरखास के विकास को लेकर जनता को हाथ लगी सिर्फ निराशा-प्रमोद तिवारी

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

लालगंज, प्रतापगढ़। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के रामपुरखास दौरे को लेकर केन्द्रीय कांग्रेस वर्किग कमेटी के सदस्य प्रमोद तिवारी ने बतौर प्रतिक्रिया इसे क्षेत्रीय विधायक आराधना मिश्रा मोना के द्वारा स्वीकृत विकास परियोजनाओं को क्रियाशील कराए जाने के प्रति पूरी तरह रामपुरखास की जनता के लिए निराशाजनक करार दिया है। हालांकि वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने सीएम योगी आदित्यनाथ के भाषण मे दिखी शालीनता तथा राजनीतिक मर्यादा और शिष्टाचार को सीएम के पद की गरिमा के अनुरूप भी करार दिया है। मंगलवार को रामपुरखास के एक दिवसीय दौरे पर यहां पहुंचे प्रमोद तिवारी ने विधायक मोना के कैम्प कार्यालय पर मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने पांच साल के कार्यकाल मे रामपुरखास आये तो उन्होनें स्वयं एवं विधायक मोना ने पत्र लिखकर उनका स्वागत किया। प्रमोद तिवारी ने कहा कि क्षेत्रीय विधायक मोना ने मुख्यमंत्री के स्वागत मे लिखे पत्र मे क्षेत्र के विकास हित मे सीएम से अनुरोध किया था कि लालगंज मे लम्बे अर्से से ट्रामा सेंटर बनकर तैयार है, दुर्घटनाओं की बाहुलता को देखते हुए इसे अविलंब चालू कराया जाय। प्रमोद तिवारी ने कहा कि सीएम के भाषण मे ट्रामा सेंटर के क्रियाशील होने तथा सरकारी गजट के जरिए क्षेत्र के स्वीकृत एक नये ब्लाक मंगापुर उदयपुर के भी क्रियाशील न कराये जाने का जिक्र न होने पर जनता को निराशा ही हाथ लगी। वहीं सीडब्ल्यूसी मेंबर प्रमोद ने विधायक मोना के पत्र का हवाला देते हुए कहा कि लालगंज सीएचसी मे एनआरएचएम के एमसीएच विंग योजनान्तर्गत पचास बेड के महिला एवं बाल चिकित्सालय मैटरनिटी विंग के भी लगभग बनकर तैयार होने के बावजूद सीएम ने इसके भी क्रियाशील को लेकर अपने भाषण मे कोई जिक्र न कर बच्चों एवं महिलाओं के समुचित स्वास्थ्य की देखभाल व सुरक्षा को लेकर क्षेत्र को निराशा सौंपी। वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने संगम चौराहे से राजेन्द्र नगर तक तीन किलोमीटर मार्ग के चौडीकरण एवं सुदृढ़ीकरण के जरिए नगर को मिलने वाले एक परोक्ष वाईपास को लेकर भी सीएम के द्वारा भाषण मे स्थान न मिलने को भी घोर निराशा का परिचायक करार दिया। हालांकि सीडब्ल्यूसी मेंबर प्रमोद तिवारी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दौरे को लेकर भाजपा पर भी कसे तंज मे क्षेत्रीय सियासत की छिछली राजनीति के लिए भी निराशाजनक ही कहा। बकौल प्रमोद तिवारी भाजपा के कुछ कम पढ़े लिखे बड़ बोले नेताओं को सीएम के भाषण से इसलिए निराशा हुई कि मुख्यमंत्री ने उच्च राजनीतिक मर्यादा का निर्वहन करते हुए बड़ी शालीनता के साथ अपना भाषण दिया। प्रमोद तिवारी बोले-बार बार उनके तथा विधायक मोना के प्रति अनावश्यक राजनीतिक प्रतिशोध रखने वाले चंद भाजपा के नेताओं के अनुरोध के बावजूद सीएम ने न तो उनके प्रति और न ही क्षेत्रीय विधायक के प्रति आलोचना के एक शब्द भी नही कहे। श्री तिवारी ने कहा कि पिछले पचीस सितंबर को सांगीपुर ब्लाक मे घटित घटना का तक जिक्र न करके मुख्यमंत्री ने राजनीतिक शालीनता और शिष्टाचार का परिचय दिया। श्री तिवारी ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की भी प्रदर्शित राजनीतिक शालीनता और शिष्टाचार ही उनके जीवन की राजनीतिक मर्यादा की कमाई है। उन्होनें मुख्यमंत्री के शालीन व शिष्ट राजनीतिक सोच की सराहना करते हुए भाजपा के कुछ बड़बोले और गैर पढ़े लिखे नेताओं को सीख दी कि उन्हें भी अपने नेता की वाणी और शालीनता तथा संयम से सबक लेने की आवश्यकता है। प्रमोद तिवारी ने खुलकर जताई गई प्रतिक्रिया मे कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने पद की जहां गरिमा निभाई वहीं मुख्यमंत्री की शालीनता के सामने आने से बडबोले नेताओं को अपने मुंह की खाई का कड़वा आईना भी देखने को मिला है। इस दौरान प्रतिनिधि भगवती प्रसाद तिवारी व मीडिया प्रभारी ज्ञानप्रकाश शुक्ल भी मौजूद रहे।