स्मार्ट सिटी इंटेग्रेटेड कमांड कंट्रोल सेंटर (आईसीसीसी) का आकस्मिक निरीक्षण कर आवश्यक दिशा निर्देश देते स्मार्ट सिटी के सीईओ व नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

- इंटेग्रेटेड कमांड कंट्रोल सेंटर से शहर के लोगों को दिया जा सकेगा एक साथ संदेश 

सहारनपुर। स्मार्ट सिटी इंटेग्रेटेड कमांड कंट्रोल सेंटर (आईसीसीसी) में बैठकर शहर के प्रमुख चौराहों के यातायात, कानून व्यवस्था आदि की निगरानी पुलिस के जवान करेंगे। इसके अलावा इन प्रमुख चौराहों पर पब्ल्कि को कोई संदेश देना होगा तो वह भी आईसीसीसी से दिया जा सकेगा। यह व्यवस्था जल्दी ही शुरु हो जायेगी।

स्मार्ट सिटी के सीईओ व नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह ने शुक्रवार दोपहर इंटेग्रेटेड कमांड कंट्रोल सेंटर (आईसीसीसी) का आकस्मिक निरीक्षण करते हुए कार्यदायी संस्था को दस दिन के भीतर उक्त व्यवस्थाएं शुरु कराने के निर्देश दिए। सीईओ ज्ञानेंद्रसिंह ने कार्यदायी संस्था को आईसीसीसी का कार्य जल्दी से जल्दी पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कम से कम दस व्यवस्थाएं दस दिन के भीतर आईसीसीसी से शुरु हो जानी चाहिए। उन्होंने कंट्रोल रुम को तुरंत आईसीसीसी भवन में शिफ्ट करने के निर्देश देने केे साथ ही इस बात का डाटा रखने के निर्देश भी दिए कि किस समस्या का समाधान कब हुआ है।

न्गरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह ने प्रारम्भिक चरण में शहर के पंाच प्रमुख चौराहों के यातायात व कानून व्यवस्था की निगरानी के लिए पुलिस के जवान तैनात कराने, इन चौराहों पर इंटेग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम तथा पब्लिक एडैªस सिस्टम शुरु कराने के निर्देश कार्यदायी संस्था और सम्बद्ध अधिकारियों को दिए। नगरायुक्त ने जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र जारी करने, लेखा विभाग द्वारा किये गए भुगतान तथा हाउस टैक्स कितना बकाया है और कितना वसूल हुआ है, का लेखा जोखा भी इंटेग्रेटेड कमांड कंट्रोल सेंटर (आईसीसीसी) में दर्ज रखा जायेगा। 

इसके अतिरिक्त नगर निगम पार्कों, ईएसएल की स्ट्रीट लाइटों, नजूल व नगर निगम सम्पत्तियों, महानगर क्षेत्र में टयूववैल व ओवरहैड टैंकों के अलावा सार्वजनिक व सामुदायिक शौचालयों की जीओ टैगिंग कर उनका विवरण भी आईसीसीसी सेंटर पर रहेगा। इसके साथ पूरे नगर निगम परिसर की निगरानी भी इस संेटर से की जायेगी। ज्ञानेंद्र सिंह ने डोर टू डोर कूड़ा उठान के लिए क्यू आर कोड की व्यवस्था भी जल्दी कराने के लिए नगर स्वास्थय अधिकारी व कार्यदायी संस्था को दिए। निरीक्षण के दौरान मुख्य कर निर्धारण अधिकारी रवीश चौधरी, उपनगरायुक्त दिनेश यादव, नगर स्वास्थय अधिकारी डॉ.कुनाल जैन, कर अधीक्षक विनय शर्मा, आईटी ऑफिसर मोहित तलवार आदि मौजूद रहे।