टेस्ट क्रिकेट से क्विंटन डिकॉक ने संन्यास लेने का किया ऐलान तो फैन्स को याद आए धोनी

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

साउथ अफ्रीका के विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डिकॉक ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने का ऐलान करके चौंका दिया है। डिकॉक ने भारत के खिलाफ बॉक्सिंग डे टेस्ट में मिली हार के बाद तत्काल प्रभाव से टेस्ट क्रिकेट को छोड़ने की घोषणा कर दी। विकेटकीपर बल्लेबाज डिकॉक ने क्रिकेट के सबसे लंबे फॉर्मेट को चुनने के लिए जो तारीख चुनी वो 30 दिसंबर है। डिकॉक की यह तारीख इसलिए ज्यादा चर्चा में है क्योंकि टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी इसी दिन टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कहा था। 

डिकॉक की तरह ही धोनी ने भी 2014 में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने का ऐलान किया था। धोनी के संन्यास के करीब 8 साल बाद डिकॉक ने सेंचुरियन में भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज का पहला मैच हारने के बाद टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह दिया। उन्होंने कहा कि वो परिवार के साथ ज्यादा समय बिताना चाहते हैं, इसलिए टेस्ट क्रिकेट छोड़ रहे हैं। दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज अब लिमिटेड ओवर क्रिकेट में अपना ध्यान लगाना चाहते हैं।

डिकॉक से पहले धोनी ने भी बॉक्सिंग डे टेस्ट के बाद ही संन्यास लेकर सबको चौंका दिया था। उन्होंने साल 2014 में 33 साल की उम्र में अचानक टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने का ऐलान कर दिया था। भारतीय टीम उस समय ऑस्ट्रेलिया दौरे पर थी और रवि शास्त्री भारतीय क्रिकेट टीम के डायरेक्टर थे। माही ने अपना आखिरी टेस्ट मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर खेला था। रवि शास्त्री ने उस वक्त को याद कर कहा,  'यह हैरानी भरा था। वह मेरे पास आया और कहा 'मैं लड़कों से कुछ कहना चाहता हूं'। मैंने कहा क्यों नहीं। मुझे लगा कि वह ड्रॉ के बारे में कुछ कहने जा रहा है। मैं ड्रेसिंग रूम के चारों ओर सभी के चेहरे ही देख रहा था। जब धोनी ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की तो ज्यादातर खिलाड़ी सदमे में थे। धोनी इसी तरह के इंसान हैं। वो निडर और निस्वार्थ हैं।'  

धोनी की कप्तानी में भारत ने 60 टेस्ट मैच खेले, जिसमें से टीम इंडिया 27 मुकाबले जीतने में सफल रही। बतौर खिलाड़ी धोनी ने 90 टेस्ट मैचों में 38.09 की औसत से 4876 रन बनाए। उनके नाम 6 शतक और 33 अर्धशतक शामिल हैं। 29 साल के डिकॉक के फैसले से हर कोई हैरान है। डिकॉक ने साउथ अफ्रीका के लिए 54 टेस्ट मैच खेले हैं। इनमें उन्होंने 3300 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका बल्लेबाजी औसत 38.83 का  रहा है। डिकॉक ने टेस्ट मैच में 6 टेस्ट  सेंचुरी और 22 फिफ्टी जड़ी हैं। सेंचुरियन टेस्ट की बात करें तो डिकॉक ने पहली पारी में 34 रनो और दूसरी पारी में मात्र 21 रन बनाए।