सचिव व प्रधान ने मिलकर किया लाखों का जबरदस्त घोटाला

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

महोबा। विकासखंड कबरई की ग्राम पंचायत करहरा कला मैं पंचायत सचिव व प्रधान ने लाखों रुपए के फर्जी भुगतान किये इस संबंध में ग्रामीणों ने जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी महोबा को लिखित प्रार्थना पत्र देकर अवगत कराया ग्राम प्रधान करहरा कला व तत्कालीन ग्राम विकास अधिकारी करहरा कला द्वारा शासकीय धन का दुरूपयोग करके अनुचित तरीके से धन का द्रुपयोग किया गया इस सम्बन्ध में जाँच कराते हुये प्रथम सूचना रिपॉट दर्ज कराने व शासकीय धन की उपरोक्त व्यक्तियों से नियमानुसार वसूली कराये जाने की ग्रामीणों ने मांग की थी यह पत्र 8 नवम्बर को दिया गया था जिसमें 196794.00घ् की लागत से सी.सी.सडक व नाली निर्माण कार्य गजराज के भवन से अंगूरी के घर तक व 158603.00 घ् की लागत से रामलाल साहू के भवन से प्रकाश के घर तक सी.सी. रोड व नाली निर्माण एवं 197912.00 से मुख्य सी.सी. रोड से सरूवा के घर तक सी.सी. रोड तथा नाली निर्माण हेतु एवं 162865.00 ट्रांसफार्मर से पंचायत घर से सी.सी.रोड मरम्मत व नाली निर्माण हेतु कार्य किये गये जिनकी कार्यदायी संस्था ग्राम पंचायत करहरा कलॉ द्वारा मनमाने तौर पर कविता ट्रेडर्स ऐजेन्सी से बिना किसी निर्माण सामग्री क्रय किये कविता ट्रेडर्स के पक्ष में उपरोक्त धनराशि अवमुक्त कर दी तथा दिनाँक 07.01.2020 को 100000.00 मूलचन्द्र राजपूत एवं पहाड़ सिंह व आत्माराम मिश्रा कान्ट्रेक्टर ऐजेन्सी से उपरोक्त उपकरण खरीदने हेतु फर्जी तरीके से भुगतान किया गया एवं दिनांक 14.03.2020 को 162865, 00 की धनराशि सुरेन्द्र यादव के घर से रामगोपाल के घर तक सी.सी. रोड एवं नाली मरम्मत कराये जाने हेतु कुबेर इण्टरप्राईजेज ऐजेन्सी को फर्जी तरीके से भुगतान किया गया है और दिनांक 14.03.2020 को 158803.00 रामप्रकाश मिश्रा के घर से रामगोपाल के घर तक सी. सी. रोड एवं नाली मरम्मत कराये जाने हेतु स्वीकृत करके कुबेर इण्टर प्राईजेज ऐजेन्सी से निर्माण सामग्री मंगाये जाने का प्रस्ताव पारित करते हुये फर्जी भुगतान उपरोक्त को किया गया तथा दिनाँक 14.03.2020ई0 को 156496.00 मथुरा के घर से सुरेश के घर तक सी.सी. रोड एवं नाली निर्माण कराये जाने हेतु स्वीकृत करते हुये निर्माण सामग्री मंगाये जाने हेतु कबिता टेडर्स ऐजेन्सी को फर्जी किया गया है। इस प्रकार ग्राम प्रधान व तत्कालीन ग्राम विकास अधिकारी करहराकलों द्वारा ग्राम विकास हेतु प्रस्तावित राशि को भारी मात्रा में किसी भी विकास कार्य को न कराते हुये फर्मो में धनराशि डाल कर धन का बन्दर बांट किया गया विकास कार्य हेतु अवमुक्त धन को हडप लिया है जबकि धरातल पर किसी भी प्रकार का कोई विकास कार्य नहीं कराया है।इसी शिकायती पत्र के आधार पर जाँच हुई जिसमें एडीओ पंचायत ने गाँव जाकर निरीक्षण किया जिसमें कई कार्य ऐसे पाये गये जो 5 से 10 वर्ष पूर्व किए गए थे लेकिन इन कार्यों का भी भुगतान निकाला गया है आगे जांच के दौरान यह तय हो पाएगा कि यह भुगतान ग्राम पंचायत ने किस आधार पर निकाला व कई जगह ऐसा भी पाया गया कि जो कार्य क्षेत्र पंचायत ने किए इसकी भी जांच की जाएगी कि उक्त कार्य क्षेत्र पंचायत ने किस सन में किया और पंचायत में किस सन में इस पर अभी कार्यालय में और गहन रूप से जांच की जाएगी जब जांच में है यह सिद्ध हो जाएगा कि किस कर्मचारी ने इस प्रकार का कार्य किया है उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।