डीएम की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई जिला पोषण समिति की बैठक

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

बहराइच । जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र की अध्यक्षता में मंगलवार को देर शाम जिला पोषण समिति/कन्वर्जन्स समिति की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. ओ.पी. पाण्डेय, जिला कार्यक्रम अधिकारी जी.डी. यादव, राजस्व गॉव गोद लेने वाले सम्बन्धित अधिकारी, प्रभारी चिकित्साधिकारी, समस्त बाल विकास परियोजना अधिकारी, डी.टी.एम., पीरामल स्वास्थ्य, जिला विशेषज्ञ कम्यूनिटी आउटरीच यू.पी.टी.एस.यू. आदि उपस्थित रहे।

जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद में माह अक्टूबर 2021 मे गोद लिये गये 84 गांवों में 0-5 वर्ष के 16761 बच्चे, जिसमें लाल श्रेणी-330 पीली श्रेणी-1347, सैम बच्चे-50 मैम बच्चे-92 बच्चे चिन्हित हुए। माह नवम्बर 2021 में लाल श्रेणी- 239, पीली श्रेणी-920, सैम-35, मैम-54 बच्चे है। जिसमे वर्तमान माह मे लाल श्रेणी- 91, पीली श्रेणी-427, सैम बच्चे-15, मैम-38 बच्चे सुधरीकृत हुए है। विभागीय ऑगनबाड़ी केन्द्रों पर 200 फण्डेड व 839 नान फण्डेड कुल 1039 पोषण वाटिका तैयार की गयी है। पोषण वाटिका में केला, सहजन, ऑवला, तुलसी सब्जियॉ आदि उगाई गयी है।

जिलाधिकारी डॉ. चन्द्र ने निर्दश दिया कि जिले के जिन गॉवों में शत-प्रतिशत कोविड टीकाकरण का कार्य सम्पन्न हो गया है, वहॉ की वैक्सीनेशन टीमों को सम्मानित करें जिससे दूसरी टीमें भी प्रेरित हो सकें साथ ऐसे ग्रामों में जहॉ टीकाकरण अपेक्षाकृत कम हुआ है वहॉ के लिए भी विशेष रणनीति तैयार कर शत-प्रतिशत टीकाकरण करायें। जिलाधिकारी डॉ. चन्द्र ने जिला कार्यक्रम अधिकारी को निर्देश दिया कि ऑगनबाड़ी केन्द्रों का निर्माण कार्य यथाशीघ्र पूर्ण कराते हुए सम्बन्धित जनप्रतिनिधियों से लोकार्पण कराकर सदुपयोग में लाया जाय। साथ ही गोद लिए गए ग्रामों के समीक्षा के दौरान सम्बन्धित ग्रामों के नोडल अधिकारियों को निर्देश दिये गये कि ग्रामों के भ्रमण के दौरान ऑगनबाड़ी केन्द्रों से प्रदान की जा रही सभी सेवाओं की गहनता से सत्यापन के साथ-साथ अन्य शासकीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों के क्रियान्वयन का सत्यापन कर विस्तृत आख्या उपलब्ध करायें ताकि तदनुसार आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करायी जा सके।

माह अक्टूबर व नवम्बर 2021 मे विशेष संचारी रोग एवं दस्तक अभियान की समीक्षा के दौरान यह पाया गया कि आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों द्वारा गृह भ्रमण कम किया गया परियोजना चित्तौरा एवं फखरपुर का सबसे खराब स्थिति 19 प्रतिशत पाये जाने पर रोष व्यक्त किया गया। बैठक के दौरान निर्देश दिया गया कि आयरन की गोली व एल्बंडाजोल टैबलेट स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त कर सभी आंगनबाड़ी केन्द्रो पर शत प्रतिशत वितरण सुनिश्चित कराये। समस्त वीएचएसएनडी सत्र पर पर्दा लगा कर ही जांच कराई जाये तथा 28 नवम्बर 2021 को सभी ब्लाको मे कोविड वैक्सिनेशन अभियान चलाया जाये।