जीवन का सत्कर्म ही भगवान का सच्चा वरदान- पं. अरूणेश

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

लालगंज, प्रतापगढ़। बाबा घुइसरनाथ के समीप नौवानार मे हो रही भागवत कथा मे भगवान की भक्ति का गुरूवार को आस्थामय वातावरण दिखा। कथाव्यास पं. अरूणेश कुमार त्रिपाठी ने कहा कि प्रभु का वरदान भी सदैव मानव जीवन को सतकर्म के लिए मिला करता है। उन्होंने मुचकुंद की कथा का उदाहरण रखते हुए कहा कि मुचकुंद ने भगवान श्रीकृष्ण के दिये गये वरदान मे प्रलोभन से अलग हटकर केवल प्रभु से भक्ति की साधना का वरदान मांगा। वहीं बुधवार की शाम कथा के दौरान पूर्व राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी भी कथास्थली पहुंचे। श्री तिवारी ने स्वयं तथा विधायक आराधना मिश्रा मोना की ओर से कथाव्यास पं. अरूणेश त्रिपाठी के द्वारा क्षेत्र मे मंगल कथा को लेकर अभिषेक किया। वहीं कथाव्यास ने भी प्रमोद तिवारी को भगवान कृष्ण का चित्र भेंटकर लोकमंगल के उनके ध्येय की सफलता को लेकर शुभाशीष सौंपे। कथा के संयोजक पं. केसरीनंदन शुक्ल के संयोजन मे श्रीमद्भागवत भगवान की भव्य आरती उतारी गयी। सह संयोजक साहित्यकार अंजनी अमोघ ने अतिथियो व श्रद्धालुओं का मांगलिक टीका किया। इस मौके पर चेयरपर्सन प्रतिनिधि संतोष द्विवेदी, ज्ञानप्रकाश शुक्ल, सीमा शुक्ला, कामिनी शुक्ला, श्रीनारायण तिवारी, मुन्ना परिहार, अनुभव तिवारी, प्रदीप मिश्र, भूपेंद्र तिवारी काजू, शास्त्री सौरभ, शुभम श्रीवास्तव, राजेश तिवारी, देवमणि तिवारी, पंकज शुक्ल, रामेन्द्र मिश्र आदि रहे। सह संयोजक अमित शुक्ल ने श्रद्धालुओं का आभार जताया।