अलग-अलग संस्कृतियों से भरपूर है शहर अजमेर,जरूर बनाएं घूमने का प्लान

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

राजस्थान को हमेशा भारत के अच्छे पर्यटन स्थलों में से एक माना जाता है। ये रेगिस्तानी राज्य पर्यटकों के लिए सबसे अच्छी जगह है। ऐसे में अजमेर घूमने के लिए बेहतरीन जगह है। अजमेर शहर अलग-अलग संस्कृतियों से भरपूर है। यह शहर अरावली पहाड़ियों से घिरा हुआ है। सुंदर झीलों, शानदार किलों और आकर्षक संग्रहालयों के साथ संपूर्ण है ये शहर ।

1) अजमेर शरीफ दरगाह

दरगाह शरीफ या अजमेर शरीफ अजमेर के मध्य में बसा है, इस दरगाह का सम्मान मुस्लिम और हिंदू दोनों करते हैं। मुहम्मद बिन तुगलक 1332 में सबसे पहले दरगाह आए थे। हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के शासनकाल के दौरान, जहलरा दरगाह के अंदर के स्मारकों में से एक था जो कभी पानी का मुख्य स्रोत था। आज भी इस पानी का इस्तेमाल सभी अनुष्ठानों के लिए किया जाता है। दरगाह के अंदर, आपको दो बढ़े कढ़ाई के आकार के बर्तन मिलेंगे जो नियाज पकाने के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं। यहां लोग अपनी श्रद्धा से दान देते हैं। 

2) आधा दिन का झोंपरा

मस्जिद भारत की सबसे पुरानी मस्जिदों में से एक है, और अजमेर में सबसे पुराना जीवित स्मारक है। यह एक मस्जिद है जिसे कुतुब-उद-दीन-ऐबक ने 1192 ई. में मुहम्मद गोरी के आदेश पर बनवाया था। यह 1199 ईस्वी में पूरा हुआ था, और 1213 में दिल्ली के इल्तुतमिश द्वारा इसे और बनाया गया था। 

3) अकबर पैलेस और संग्रहालय

फेमस महल 1500 ईस्वी में बनाया गया था। यह कभी राजा और रक्षकों का घर था, अब इसमें एक सरकारी संग्रहालय है और विभिन्न कलाकृतियों, मूर्तियों और पेंटिंग है।