कपिल देव ने टीम इंडिया के खिलाड़ियों को लताड़ा

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

2007 के बाद पहली बार ऐसा हुआ है कि टीम इंडिया किसी आईसीसी टूर्नामेंट के नॉकआउट स्टेज से पहले ही आउट हो गई है। आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप 2021 में टीम इंडिया के नॉकआउट में नहीं पहुंचने को लेकर पूर्व कप्तान और भारत के बेस्ट ऑलराउंडर्स में शामिल रहे कपिल देव ने मौजूदा खिलाड़ियों की जमकर क्लास लगाई है। कपिल देव ने भारत के इस प्रदर्शन के लिए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) को भी जिम्मेदार ठहराया है। विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम इंडिया को लीग राउंड में पहले दो मैच में लगातार हार झेलनी पड़ी। पाकिस्तान और न्यूजीलैंड से हारने के बाद टीम इंडिया का टूर्नामेंट से बाहर होना लगभग तय हो गया था और न्यूजीलैंड की रविवार को अफगानिस्तान के खिलाफ जीत ने भारत का दरवाजा एकदम ही बंद कर दिया।

कपिल देव ने कहा, 'समय आ गया है कि हम अब भविष्य पर ध्यान दें। आपको अभी से प्लानिंग शुरू करनी होगी। मुझे ऐसा लगता है कि आईपीएल और वर्ल्ड कप के बीच में थोड़ा गैप होना चाहिए था।' कपिल देव ने कहा कि भारतीय खिलाड़ियों की प्राथमिकता आईपीएल खेलना है और देश के लिए टूर्नामेंट खेलने को वे प्राथमिकता नहीं देते हैं। कपिल ने साथ ही कहा कि बीसीसीआई को इस बारे में सोचना चाहिए।

उन्होंने कहा, 'जब खिलाड़ी आईपीएल में खेलने को देश के लिए खेलने से ज्यादा प्राथमिकता देंगे, तो हम क्या कह सकते हैं। खिलाड़ियों को देश के लिए खेलने में गर्व होना चाहिए। 

मुझे उनकी फाइनैंशियल कंडीशन के बारे में नहीं पता है तो मैं इस पर कोई कमेंट नहीं करूंगा। लेकिन मुझे लगता है कि आपके लिए पहले देश आना चाहिए और उसके बाद आपकी फ्रेंचाइजी टीम। मैं यह नहीं कह रहा हूं कि आप फ्रेंचाइजी टीम के लिए नहीं खेलिए, लेकिन अब यह बीसीसीआई की जिम्मेदारी बनती है कि वह खिलाड़ियों को बेहतर तरीके से मैनेज करे। इन गलतियों को नहीं दोहराना है और यही इस टूर्नामेंट से हमारी सबसे बड़ी सीख है।'