क्या सच है

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

जनता से लिया जा रहा पाई -पाई का हिसाब ,पर अपना छुपायेंगे।

सब कुछ बेच कर हम बनेगे आत्मनिर्भर कमाल का है कमल।

हाय आजादी के दीवानो का अपमान -हे राम

अनिल त्रिपाठी