Navratri : काली बाड़ी मन्दिर में पंचमुण्ड पर बैठी मां काली के दर्शन के लिए बड़ी संख्या में आते हैं भक्त

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क 

Navratri : घसियारी मंडी स्थित काली बाड़ी में मां पंचमुण्ड आसन पर विराजमान हैं। मंदिर की स्थापना 158 वर्ष पूर्व भक्त मधुसूदन बनर्जी ने की थी। नवरात्र में यहां महिषासुर मर्दिनी का विशेष पाठ होता है। मंदिर के वरिष्ठ पुजारी डॉ. अमित गोस्वामी बीते 17 वर्ष से माता की सेवा कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि वर्ष 1863 में साधक मधुसूदन बनर्जी को माता सपने में आई। मां के आदेश पर उन्होंने मिट्टी की प्रतिमा तैयार कर स्थापित की। आदेशानुसार मां की स्थापना नर, बंदर, उल्लू, सांप और सियार समेत पांच जीवों के मुण्डों की आधारशिला पर हुई। मंदिर में अष्टमी और नवमी को विशेष पूजा होती है। काली बाड़ी मंदिर में पेठा फल की बली दी जाती है। पहले पशु बली की परंपरा थी धीमे- धीमे इसका स्थान पेठा फल ने ले लिया। यहां आने वाले भक्तों की माता फरियाद जरूर सुनती है। बड़ी संख्या में भक्त काली माता के दर्शन के लिए आते हैं।












Popular posts
मुझ पर दोस्तों का प्यार, यूँ ही उधार रहने दो |
Image
चिट्टियां कैसे लिखी जाती थी
Image
राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वाधान में व प्रभारी जिला जज/ अध्यक्ष विधिक सेवा प्राधिकरण के मार्गदर्शन में आजादी अमृत महोत्सव हुआ कार्यक्रम
Image
70 साल की उम्र में UP विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष सुखदेव राजभर ने ली अंतिम सांस, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, अखिलेश यादव ने जताया शोक
Image
असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा, रोज़गार और कल्याणकारी योज़नाओं का लाभ उठाने ई-श्रमिक पोर्टल पर पंजीकरण मील का पत्थर साबित होगा
Image